अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: बजरंग पुनिया से लेकर निकहत जरीन ने किया योग

भारतीय महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान रानी रामपाल और मनु भाकर ने योग दिवस के मौके पर योग किया।

लेखक सतीश त्रिपाठी

विश्व भर में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। जिसमें खेल जगत से लेकर अन्य फील्ड के लोग योग दिवस में बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।

योग दिवस को मनाने का उद्देश्य योग के फायदों के बारे में जागरुकता फैलाना और लोगों को इसके साथ जुड़ने के लिए प्रेरित करना है। इस दिन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने की शुरुआत साल 2015 में हुई। आज भारत के साथ पूरी दुनिया में 8वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है।

खिलाड़ियों के जीवन में योग का महत्वपूर्ण रोल है, इससे खिलाड़ी फिटनेस और मानसिक तौर पर मजबूत रहते हैं। अंतराष्ट्रीय योग दिवस परबजरंग पुनिया, निकहत जरीन, रानी रामपाल से लेकर मनु भाकर जैसे भारतीय एथलीटों ने योग किया।

भारतीय पहलवान बजरंग पुनिया ने योग दिवस के मौके पर योग करते हुए अपने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर साझा की और इसके साथ ट्वीट करते हुए कहा, “खुद को तन मन से शक्तिशाली बनाये, आओ मिलकर सभी योग अपनाये।”

बता दें कि बजरंग पुनिया ने टोक्यो 2020 ओलंपिक में पुरुषों की फ्रीस्टाइल 65 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक जीता था। इससे पहले पुनिया ने साल 2016 राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक जीता था और 2017 में वह एशियन चैंपियन बनें।

हाल ही में वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के 52 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय महिला बॉक्सर निकहत जरीन ने योग करते हुए सोशल मीडिया पर एक तस्वीर साझा करते हुए कहा, "योग का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह कभी फीका नहीं पड़ता है, एक बार जला दिया जाए तो लौ हमेशा तेज रहेगी। योग का अभ्यास करें। सभी को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं!"

भारतीय महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान रानी रामपाल ने भी योग दिवस के मौके पर योग किया और एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए योग दिवस पर अपनी बात साझा करते हुए कहा, “स्वस्थ और सुखी जीवन के लिए अपने शरीर, मन और आत्मा को मजबूत और सिंक्रनाइज करें। इस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर, योग के साथ एक नई जिंदगी की शुरुआत करें।”

रानी रामपाल ने टोक्यो 2020 में भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तानी की थी, जहां उन्होंने एक युवा टीम को चौथे स्थान पर पहुंचाया था। हालांकि टीम इस दौरान ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ एक कड़े मुकाबले में हार के बाद ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने से चूक गई थी।

ISSF विश्व कप विजेता मनु भाकर ने योग करते हुए एक पोस्ट साझा की, उन्होंने कहा, "आओ मिलकर योग करें, एक दिन नहीं, हर रोज करें।" 

मनु भाकर ने 2017 की राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप में ओलंपियन और पूर्व विश्व नंबर-1 हीना सिद्धू को चौंकाते हुए 242.3 के स्कोर के साथ एक नया रिकॉर्ड बनाया था। इसकी बदौलत उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल के फाइनल में हीना को हराया था। इसके अलावा उन्होंने साल 2017 एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था।

आपको बता दें इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम योगा फॉर ह्यूमैनिटी (Yoga For Humanity) है, जिसका अर्थ है मानवता के लिए योग।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स