इंटरनेशनल वूमेंस डे 2022: महिला ओलंपियंस ने पर्यावरण को बचाने के लिए बढ़ाया कदम

फुटबॉलर Wendie Renard से लेकर ओलंपिक सेलिंग चैंपियन Hannah Mills तक: जानिए कैसे महिलाएं अपने खेल के माध्यम से लोगों को जलवायु और पर्यावरण के अस्तित्व को बरकरार रखने की कोशिश में शामिल कर रही हैं।

लेखक रौशन कुमार

धरती के भविष्य को बचाने की लड़ाई में अन्य व्यक्तियों के साथ-साथ ओलंपियन भी इस अभियान में शामिल हैं।

आम लोगों की तरह एलीट एथलीट भी अपने विभिन्न खेलों और डिसिप्लिन के माध्यम से जलवायु परिवर्तन को बचाने के अभियान में शामिल होना चाहते हैं और अपना अहम योगदान देना चाहते हैं।

ओलंपिक खेलों द्वारा उन्हें प्रदान किए गए मंच का उपयोग करते हुए शीर्ष एथलीट तेजी से इस अभियान में शामिल हो रहे हैं और इस विषय पर लगातार अपनी बात रख रहे हैं। वे अपनी ओर से यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि जलवायु संकट को टाला जा सके।

इसको देखते हुए इस वर्ष इंटरनेशनल वूमेंस डे के अवसर पर एक स्थायी कल के लिए आज लैंगिक समानता का थीम रखा गया है।

इस खास अवसर पर Olympics.com ने उन महिला ओलंपियंस को स्पॉटलाइट में रखा है जो अपने कारनामों से दुनिया भर के लिए प्रेरणास्रोत रही हैं और दुनियाभर की बेहतरी के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

अमेरिकी समोआ के चारों ओर फैले प्रशांत महासागर से लेकर फ्रांस के डिवीजन 1 फेमिनिन की पिचों तक, मिलिए उन महिलाओं से जो अपने खेल के माध्यम से अपने समुदाय के लोगों को जलवायु और पर्यावरण के अस्तित्व को बरकरार रखने की कोशिश में शामिल कर रही हैं।

तिलाली स्कैनलन ने टोक्यो 2020 के उद्घाटन समारोह में तनुमाफिली मालिएतोआ जुंगब्लुट के साथ अमेरिका समोआ का झंडा लहराया
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

Tilali Scanlan – ओशियन लवर, क्लाइमेट एक्टिविस्ट

टोक्यो 2020 की स्विमिंग स्टार Tilali Scanlan के लिए पानी में रहने से बड़ी कोई खुशी नहीं है।

अमेरिकी समोआ के वैतोगी में जन्मी और पली-बढ़ी, 22 वर्षीय स्विमर का पानी के साथ हमेशा ही घनिष्ठ संबंध रहा है। हर दिन घर में स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद वह पास के पूल में स्विमिंग करती थीं। उनके माता-पिता के कुल आठ बच्चे हैं, और वे उनकी सातवीं संतान हैं।

जैसे ही उन्हें पता चला कि उनके अंदर काफी प्रतिभा है, Scanlan ने अपने पड़ोसियों के माध्यम से स्पॉन्सरशिप का इंतजाम किया और जल्द ही एक स्विमर के रूप में अमेरिका के समोआ का प्रतिनिधित्व किया। हाल में ही उन्होंने टोक्यो 2020 में अपनी चुनौती पेश की थी।

बतौर स्विमर करियर बनाने के बाद उन्हें महासागर और उसके आस-पास के इकोसिस्टम से भी लगाव हो गया। प्रशिक्षण और युवा अमेरिकी समोआ को तैराकी के लिए प्रोत्साहित करने के बीच, Scanlan ने फ़िजी में यूनिवर्सिटी ऑफ पैसिफिक में समुद्री विज्ञान/जीव विज्ञान में डिग्री हासिल की।

उनकी पढ़ाई से साफ पता चलता है कि वह हमेशा से यह सच मानती थी: इंसानऔर प्रकृति एक-दूसरे पर निर्भर हैं।

वह पर्यावरण की सुरक्षा को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इसी वजह से उन्हें दुनिया भर में यात्रा करने और प्रतिस्पर्धा करने का अवसर मिला है। Scanlan अब अपने मूल देश में कोरल रीफ के बारे में अधिक जानने के लिए दो साल के कार्यक्रम को शुरू करने वाली है।

वह नेशनल कोरल रीफ मैनेजमेंट फेलोशिप प्रोग्राम 2022-2024 में भाग लेने के लिए चुने गए सात लोगों में से एक हैं। यह प्रोग्राम नोवा साउथईस्टर्न यूनिवर्सिटी के कोरल रीफ इंस्टीट्यूट, एनओएए के कोरल रीफ कंजर्वेशन प्रोग्राम, यूएस डिपार्टमेंट ऑफ इंटीरियर ऑफिस ऑफ इंसुलर अफेयर्स और यूएस के कोरल रीफ ऑल आइलैंड्स कमेटी के बीच एक साझेदारी के तहत आयोजित किया जाएगा।

Scanlan कोरल रीफ एडवाइजरी ग्रुप और पार्टनर एजेंसियों के साथ अमेरिकन समोआ में फेलो के रूप में काम करेंगी ताकि कोरल रिस्टोरेशन ट्रायल किया जा सके। वह कोरल रिस्टोरेशन के प्रयासों की सफलता को सुनिश्चित करने के लिए सर्वोत्तम तकनीकों और प्रथाओं के बारे में सामुदायिक जागरूकता बढ़ाने पर भी ध्यान केंद्रित करेंगी।

Wendie Renard- शानदार फुटबॉलर, क्लाइमेट कैंपेनर

फ्रांस की फुटबॉलर और दो बार की ओलंपिक चैंपियन Wendie Renard पर्यारवण के बचाव को लेकर अपनी बात रखती हैं। 31 वर्षीय फुटबॉलर पर्यावरण को नहीं बचाने में खुद को भी दोषी मानती हैं। ओलंपिक लियोनिस के साथ सात बार की UEFA महिला चैंपियंस लीग विजेता भी हैं। अब वह पर्यावरण को बदलने के लिए तैयार हैं।

हाल ही में Renard वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ) के साथ एक अभियान में सबसे आगे दिखाई दी थीं। इस अभियान के पीछे की वजह है कि जलवायु परिवर्तन की स्थिति में दुनिया की जैव विविधता की दुर्दशा की ओर ध्यान आकर्षित किया जा सके।

इस अभियान का हिस्सा होने के नाते उन्होंने कहा, “मैनें अपनी जीवन में काफी मैच जीते हैं लेकिन यह जीत काफी खास है। मैं उनको हराना चाहती हूं जो प्रकृति को खराब करना चाहते हैं।”

"एक एथलीट, कलाकार और नागरिक के रूप में, हम सभी को हवा, पानी और भोजन की आवश्यकता होती है जो प्रकृति हमें प्रदान करती है। मैं नहीं चाहती की मैं अंतिम फुटबॉलर बनूं। मैं अभी भी गोल करना चाहती हूं। इसके लिए मैंने प्रकृति के पक्ष में खुद को प्रतिबद्ध करने का फैसला किया है।

उन्होने आगे कहा, "ऐसा नहीं है कि मैंने कोई गलत काम नहीं किया है लेकिन मैं अपनी आदतों को बदलकर खुद को सुधारना चाहती हूं। मैं, हम सभी को ऐसा करने के लिए आमंत्रित करती हूं।”

"हमारे पास प्रवृत्ति को उलटने का अभी भी मौका है।"

वेंडी रेनार्ड ने लंदन 2012 में ओलंपिक क्वार्टर फाइनल में जीत का जश्न मनाया
फोटो क्रेडिट 2012 Getty Images

टोक्यो 2020 हैंडबॉल स्वर्ण पदक विजेता Nikola Karabatic और टोरिनो 2006 विंटर ओलंपिक के स्नोबोर्डर Mathieu Crepel सहित फ्रांस के कई अन्य खिलाड़ियों के साथ मिल कर Renard ने लोगों से एक घोषणापत्र पर हस्ताक्षर करने की बात कही है जिसपर "पास ले डर्नियर" लिखा है जिसका अर्थ ‘अंतिम नहीं है।’

घोषणा पत्र में लिखा है कि जिस चुनौती का सामना आज हम कर रहे हैं, आने वाली पीढ़ी को उसका सामना नहीं करना पड़े।

उन्होंने कहा, हम पर्यावरण क्षति के परिणाम को भुगतने वाली पहली पीढ़ी हैं और इस प्रवृत्ति को उलटने में सक्षम होने वाली आखिरी पीढ़ी भी बनना चाहते हैं। हम आखिरी हाथियों, बाघों, व्हेल और अन्य प्रजातियों के गायब होने का गवाह नहीं बनना चाहते हैं। हम नहीं चाहते कि एक भी जंगल नहीं बचे, आखिरी ग्लेशियर पिघल जाएं या समुद्र सूख जाएं।

"हम आखिरी कलाकार और आखिरी एथलीट नहीं बनना चाहते हैं जो खुद को व्यक्त करने, अभ्यास करने, स्वस्थ वातावरण में रहने में सक्षम हों, जिससे हम पानी, ऑक्सीजन और भोजन प्राप्त करते हैं और जो हमारे जीवन के लिए आवश्यक हैं।

"हम प्रकृति के विनाश को रोकने वाले अंतिम व्यक्ति नहीं बनना चाहते हैं। हम प्रकृति को बचाने के अभियान पर काम करने वाले भी अंतिम व्यक्ति नहीं बनना चाहते हैं, और आप?

परिवर्तन के अपने प्रयासों को दोगुना करते हुए Renard एक सच्चे एम्बेसडर की तरह ऊभरी हैं और इस अभियान में उन्होंने अपने क्लब ल्योन को भी शामिल कर लिया है।

वह वूमेंस और मेंस टीमों को अपने पर्यावरणीय कार्यों के लिए व्यक्तिगत रूप से अधिक जिम्मेदार बनने के लिए प्रेरित करने वाली छह खिलाड़ियों में से एक है। ग्रेट ब्रिटेन की लुसी ब्रॉन्ज़ भी इस अभियान में शामिल हैं।

ओलंपिक लियोनिस की कप्तान वेंडी रेनार्ड साल 2020 में यूईएफए महिला चैंपियंस लीग में अपनी टीम की जीत के बाद जश्न मनाया
फोटो क्रेडिट Alvaro Barrientos

Hannah Mills- सेलिंग पावरहाउस, प्लास्टिक एलिमिनेटर

ओलंपिक इतिहास में सबसे सफल सेलर बनने के लिए आपको अडिग रहना होगा, और टीम जीबी की सेलर Hannah Mills हमेशा से ही अपनी सेलिंग को लेकर दृढ़ रही हैं।

लंदन में घरेलू गेम्स में अपने पहले रजत पदक से लेकर एलीध मैकइंटायर के साथ टोक्यो 2020 में एनोशिमा यॉट हार्बर पर अपने दूसरे स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। रिटायर हो चुकी वेल्श की एथलीटों ने अपने खेल को हमेशा शर्ष स्तर पर ही खेला।

अब वह अपनी ऊर्जा को पर्यावरण को बचाने में लगा रही है।

Scanlan की तरह, Mills को भी अपने खेल में प्रकृति क साथ चाहिए, और वह इसी रिश्ते के कारण अपने जीवन में आगे बढ़ी है और अब वह इसे बचाने की पूरी कोशिश कर रही हैं।

उन्होंने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) को बताया था, "हर एक समुद्र तट, मरीना और बंदरगाह, जिसमें मैंने सेलिंग किया है वहां प्लास्टिक भरे हुए हैं।"

"मेरे लिए स्थिरता की दुनिया में प्रवेश के सारे द्वार खुल चुके हैं। मैं जागरूकता बढ़ाने, व्यवहार बदलने और पर्यावरण के मुद्दों पर दूसरों को प्रभावित करने के लिए अपनी खेल पृष्ठभूमि, नेटवर्क और प्रोफाइल का उपयोग करना चाहती हूं।


Olympics.com से बात करते हुए Hannah Mills ने कहा, "ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करना सबका सपना होता है लेकिन इसका मतलब सिर्फ प्रतिस्पर्धा या पदक जीतना नहीं है; इसका अर्थ है एक अच्छा वैश्विक नागरिक होना"

जब पिछले साल स्कॉटलैंड के ग्लासगो में COP26 शिखर सम्मेलन में दुनिया भर के नेताओं पर सबकी नज़र थी, तब मिल्स ने खूब सुर्खियां बटोरी।

IOC और साथी ओलंपियन Melissa Wilson की मदद से उन्होंने 50 से अधिक हाई-प्रोफाइल ओलंपियन और पैरालिंपियन को पर्यावरण बदलाव के समर्थन में अपनी आवाज बुलंद करने के लिए इकट्ठा किया था।

केन्या की मैराथन स्टार एलियुड किपचोगे से लेकर ब्रिटिश टेनिस के दिग्गज एंडी मरे तक को नहीं बख्शा गया।

उन्होंने COP26 की बैठक बुलाई। जो अब तक के सबसे महत्वपूर्ण जलवायु परिवर्तन सम्मेलनों में से एक माना जाता है। "ओलंपिक जलवायु शिखर सम्मेलन " को देखते हुए और दुनिया के नेताओं से आग्रह किया कि वे वैसा ही करें जैसा उनसे टोक्यो में अपेक्षित किया गया था।

पहले के COP26 सम्मेलन में भी Mills ने अपने एजेंडे में प्लास्टिक को टारगेट किया है।

साल 2019 में दो बार के ओलंपिक चैंपियन ने बिग प्लास्टिक प्लेज लॉन्च किया, जिसका उद्देश्य एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक को पूरी तरह खत्म करना है। रिफिल करने योग्य पानी की बोतलों का उपयोग करना और प्लास्टिक पैकेजिंग को अस्वीकार करने तक उस अभियान में हमारी निर्भरता को समाप्त करने में मदद करने के सभी तरीकों को बढ़ावा दिया गया था।

एक साल बाद वह और नॉर्वेजियन रोवर Martin Helseth को खेल समुदाय के भीतर जलवायु परिवर्तन को सूचित करने, प्रेरित करने और समर्थन करने में मदद करने के लिए उन्हें यूरोपियन क्लाइमेट पैक्ट एम्बेसडर के रूप में चुना गया था।

उन्होंने उस समय आईओसी से कहा था:

"मेरा मानना ​​​​है कि यह हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि वह जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद करने के लिए हर संभव प्रयास करे, क्योंकि यह वैश्विक समस्या हम में से प्रत्येक को प्रभावित करती है।

"खेल की बहुत बड़ी भूमिका है। इसके कई कारण हैं, खेल के आयोजनों से पूरी दुनिया तक यह संदेश पहुंचता है और यह तथ्य भी शामिल है कि खेल हमेशा बधाओं को पार कर सीमाओं को आगे बढ़ाता है। यदि हम इसकी शक्ति का उपयोग अधिक लोगों को जलवायु परिवर्तन को समझने और इससे निपटने के लिए उपलब्ध समाधानों को समझने में मदद करने के लिए कर सकते हैं, तो हम वास्तव में बदलाव ला सकते हैं।"

टीम जीबी की हन्ना मिल्स ने टोक्यो 2020 में महिलाओं की 470 वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स