इंडोनेशिया मास्टर्स बैटमिंटन 2022: क्वार्टरफाइनल में पीवी सिंधु और लक्ष्य सेन की हार के साथ समाप्त हुआ भारत का अभियान

लक्ष्य सेन को विश्व रैंकिंग के चौथे नंबर के चीनी ताइपे के खिलाड़ी चाउ टिएन चेन से हार मिली तो वहीं पीवी सिंधु को इंडोनेशिया की रतचानोक इंतानोन से हार का सामना करना पड़ा।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट Getty Images

इंडोनेशिया के जकार्ता में बुधवार को इंडोनेशिया मास्टर्स 2022 में भारतीय स्टार शटलर पीवी सिंधु को इंडोनेशिया की रतचानोक इंतानोन से सीधे गेम में हार का सामना करना पड़ा। भारतीय खिलाड़ी को इंडोनेशिया की शटलर ने 33 मिनट तक चले मुकाबले में 21-12, 21-10 से हरा दिया। तो वहीं भारतीय युवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन को भी क्वार्टरफाइनल मुकाबले में शिकस्त झेलनी पड़ी।

महिला एकल इवेंट में चौथी वरीयता प्राप्त भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को पहले गेम में विश्व की 8वें नंबर की खिलाड़ी रतचानोक इंतानोन से बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा। इस गेम में थाईलैंड की खिलाड़ी सिंधु पर लगातार हावी रहीं। गेम के दौरान सिंधु ने कई अनफोर्स्ड एरर भी किए जिसका फायदा विपक्षी खिलाड़ी ने बखूबी उठाया और भारतीय खिलाड़ी पर बढ़त बनाते हुए पहले गेम में 21-10 से जीत हासिल कर लीपहले गेम में मिली हार से सिंधु उबर नहीं पाईं और दूसरे गेम में भी उन्हें बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा और इसी के साथ इस टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती भी खत्म हो गई।   इस सुपर सीरीज 500 इवेंट में विश्व रैंकिंग में 9वें स्थान पर काबिज लक्ष्य सेन पुरुष एकल में भारत की एकमात्र चुनौती थे।

चीनी ताइपे के खिलाड़ी ने भारतीय शटलर पर पहले गेम के शुरू में ही 5-3 तीन की बढ़त हासिल कर ली। लेकिन इसके बाद इस टूर्नमेंट में 7वीं वरीयता प्राप्त लक्ष्य ने वापसी करते हुए 5-5 से बराबरी की।  विश्व रैंकिंग के चौथे नंबर पर काबिज चाउ ने लक्ष्य पर एक बार फिर दबाव बनाना शुरू किया और कुछ ही मिनटों में 16-11 की बढ़त बना ली। इसके बाद लक्ष्य को वापसी करने का कोई मौका नहीं मिला।

हालांकि, भारतीय शटलर ने दूसरे गेम में शानदार वापसी करते हुए स्कोर को 1-1 कर लिया। तीसरा और निर्णायक गेम दोनों शटलरों के लिए टूर्नामेंट में सेमीफाइनल का रास्ता तय करता। 

आखिरी और निर्णायक गेम में चीनी ताइपे के चाउ ने भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य पर गेम की शुरुआत से ही दबाव बनाना चालू कर दिया। इस गेम के दौरान लक्ष्य काफी दबाव में दिखे जिसके कारण उन्होंने कई अनफोर्स्ड एरर भी किए। इसकी वजह से उन्हें मैच में वापसी करने का कोई मौका नहीं मिला और उन्हें 42 मिनट तक चले मुकाबले में 16-21, 21-12, 14-21 से हार का सामना करना पड़ा। यह दूसरा मौका है जब भारतीय शटलर लक्ष्य सेन को चीनी ताइपे के खिलाड़ी चाउ टिएन चेन से हार का सामना करना पड़ा है।

इससे पहले भारत के थॉमस कप हीरो एचएस प्रणॉय ने पुरुष एकल इवेंट से अपना नाम वापस ले लिया था। यही नहीं राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और भारतीय शटलर पारुपल्ली कश्यप और उनकी पत्नी और लंदन 2012 की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल ने भी इस सुपर सीरीज 500 इवेंट से अपना नाम वापस ले लिया था।

विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता किदांबी श्रीकांत चोट को ध्यान में रखते हुए इस टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे। भारत की शीर्ष पुरुष युगल जोड़ी चिराग शेट्टी-सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी भी जकार्ता मीट का हिस्सा नहीं थे।

पीवी सिंधु ,लक्ष्य सेन, किदांबी श्रीकांत, एचएस प्रणय और साइना नेहवाल जैसे शीर्ष भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी अगले सप्ताह से शुरू होने वाले BWF सुपर 1000 टूर्नामेंट इंडोनेशिया ओपन में अपनी दावेदारी पेश करेंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स