नेत्रा कुमानन के अलावा तीन अन्य भारतीय नाविक 2022 एशियन गेम्स की तैयारी के लिए विदेशों में प्रतिस्पर्धा करेंगे

इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए पिछले एशियाई खेलों में भारत ने तीन मेडल जीते थे। टोक्यो ओलंपियंस वरूण ठक्कर और केसी गणपति ने 49er में कांस्य पदक जीता था। 

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले चारों भारतीय नाविक चीन के हांगजू में होने वाले एशियन गेम्स की तैयारी के लिए विदेशों में ट्रेनिंग लेंगे और प्रतिस्पर्धा करेंगे।

एशियन गेम्स से पहले विदेशों में प्रतिस्पर्धा और ट्रेनिंग के उनके प्रस्ताव को खेल मंत्रालय द्वारा गठित मिशन ओलंपिक सेल (MOC) ने मंजूरी दे दी है।

वरुण ठक्कर और केसी गणपति की 49er जोड़ी, लेजर रेडियल स्पेशलिस्ट नेत्रा कुमानन और लेजर स्टैंडर्ड सेलर विष्णु सरवनन ने इस साल के शुरुआत में टोक्यो 2020 में हिस्सा लिया था।

ये पहली बार था जब भारतीय सेलर्स ने समर गेम में हिस्सा लिया। नेत्रा कुमानन पहली महिला सेलर थीं, जिन्होंने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

चारों नाविकों को पिछले दो महीनों में वर्ल्ड चैंपियनशिप के विभिन्न श्रेणियों में भाग लिया था।

इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए पिछले एशियन गेम्स में 9 भारतीय नाविकों ने हिस्सा लिया था और तीन मेडल जीते थे।

वरूण ठक्कर और केसी गणपति ने पुरुषों के 49er मेंं कांस्य पदक, वर्षा गौतम और श्वेता सिरवेगर की जोड़ी ने महिला 49er FX और हर्षिता तोमर ने लेजर श्रेणी में कांस्य पदक जीता था।

सेलर्स के अलावा MOC ने उन प्रस्तावों की भी पुष्टि की जिन्हें इमरजेंसी बेसिस पर मंजूरी दी गई थी।

इसमें नीरज चोपड़ा की यूएसए में ट्रेनिंग और स्पेन में चल रही BWF चैंपियनशिप में पीवी सिंधु के फिटनेस ट्रेनर की सेवाओं को जारी रखना शामिल था।

नवंबर और इस महीने में आयरलैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स में टूर्नामेंट में भाग लेने वाले बैडमिंटन खिलाड़ियों के डेवलपमेंट ग्रुप के सपोर्ट को भी एक्सटेंड किया गया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स