घुड़सवारी: ट्रायल में दीपांशु श्योराण ने जीता स्वर्ण पदक, 2022 एशियाई खेलों में करेंगे भारत का प्रतिनिधित्व

अगले एशियाई खेलों में दीपांशु श्योराण भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे।

लेखक शिखा राजपूत
फोटो क्रेडिट Equestrian Federation of India

2022 एशियाई खेलों के लिए पहले चयन ट्रायल में सेना के दीपांशु श्योराण (Deepanshu Sheoran) ने स्वर्ण पदक जीता है। जयपुर में आयोजित पांच दिवसीय घुड़सवारी प्रतियोगिता का रविवार को समापन हो गया।

बता दें कि दीपांशु श्योराण भारतीय सेना में एक मेजर हैं। उन्होंने 50 अन्य घुड़सवारों को पीछे छाेड़कर चीन के हांग्जो में सितंबर में होने वाले 2022 एशियाई खेलों के लिए क्वालीफाई किया है। इस इवेंट में उन्होंने 32.7 का स्कोर बनाया। 2018 एशियाई खेलों में टीम के पदक विजेता राकेश कुमार (Rakesh Kumar) ने 34.9 के साथ दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि कुंभर महेश( Kumbhar Mahesh) 41.8 के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

भारत ने जकार्ता में हुए एशियाई खेलों के पिछले संस्करण में दो पदक जीते थे, जिसमें टोक्यो ओलंपियन फवाद मिर्जा (Fauaad Mirza) ने व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत पदक जीता था और टीम स्पर्धा में देश को एक और रजत पदक हासिल करने में मदद की थी।

इस साल की शुरुआत में फवाद मिर्जा ने इवेंटिंग स्पर्धा में क्वालीफाई करके ओलंपिक में फाइनल राउंड में पहुंचने वाले पहले भारतीय घुड़सवार बने और वह 23वें स्थान पर रहे।

इवेंटिंग स्पर्धा के तीन चरण होते हैं- ड्रेसेज, क्रॉस-कंट्री और शो जंपिंग, प्रत्येक चरण अलग-अलग दिनों में आयोजित किया जाता है। प्रतियोगियों को प्रत्येक चरण में पेनल्टी अंक दिए जाते हैं और इन तीन चरणों के अंत में सबसे कम पेनल्टी अंक वाले जोड़े को विजेता घोषित किया जाता है।

ड्रेसेज और शो जंपिंग के लिए स्टैंडअलोन इवेंट भी आयोजित किए जाते हैं। इन दोनों चरणों के लिए चयन ट्रायल बेंगलुरु में आयोजित किए जा रहे हैं।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स