असम में लवलीना बोरगोहेन हुईं डीएसपी के पद पर नियुक्त

टोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता ने कहा कि उनका मुख्य उद्देश्य अभी भी मुक्केबाजी और अगले 2024 पेरिस ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतना है।

लेखक विवेक कुमार सिंह
फोटो क्रेडिट Twitter/Lovlina Borgohain

बुधवार को भारतीय मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन को असम सरकार ने औपचारिक रूप से पुलिस उपाधीक्षक (Deputy Superintendent of Police) के रूप में नियुक्त किया।

24 वर्षीय लवलीना बोरगोहेन ने पिछले साल टोक्यो में अपने ओलंपिक पदार्पण पर महिलाओं की 69 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक जीता था। वह मैरी कॉम और विजेंदर सिंह के बाद ओलंपिक पदक जीतने वाली सिर्फ तीसरी भारतीय मुक्केबाज हैं।

डीएसपी का पद टोक्यो ओलंपिक में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए एक इनाम है।

लवलीना बोरगोहेन ने असम के गुवाहाटी में आयोजित एक औपचारिक राज्य समारोह में असम पुलिस में डीएसपी के रूप में शपथ ली।

दो बार की विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता ने ये भी कहा कि उनका अभी का लक्ष्य अपने मुक्केबाजी करियर को जारी रखना और 2024 के पेरिस ओलंपिक में स्वर्ण जीतने पर ध्यान केंद्रित करना है।

लवलीना बोरगोहेन ने इंडिया टुडे से कहा, “असम और देश के लिए और अधिक पदक जीतना मेरा कर्तव्य होगा। मैं अपने ट्रेनिंग पर ध्यान दूंगी। मैं बॉक्सिंग से रिटायरमेंट के बाद पुलिस की ड्यूटी ज्वाइन करूंगी। अब से मेरे जीवन में एक नई जिम्मेदारी आ गई है। मैं और अधिक प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को खोजने की कोशिश करूंगी।”

भारतीय स्प्रिंटर हिमा दास को भी पिछले साल असम पुलिस में डीएसपी के रूप में नियुक्त किया गया था।

इस बीच, टोक्यो ओलंपिक रजत पदक विजेता मीराबाई चानू को मणिपुर में एडिशनल पुलिस अधीक्षक (Additional Superintendent of Police) के रूप में नियुक्त किया गया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स