NBA की बड़ी लीग में ग्रेजुएट होना प्रिंसपाल सिंह का सपना

प्रिंसपाल सिंह समर लीग में खेलने वाले भारत के पहले एनबीए एकेडमी ग्रेजुएट बने हैं, और वह NBA में अपने सपनों के करियर को जीने के लिए तैयार हैं।

लेखक शिखा राजपूत
फोटो क्रेडिट Sacramento Kings

भारत के प्रिंसपाल सिंह (Princepal Singh) का मानना ​​है कि वह पिछले कुछ सालों से लगातार प्रगति कर रहे हैं, और यह रास्ता उन्हे एनबीए में खेलने के उनके सपने की ओर लेकर जाएगा।

2017 में यह भारतीय बास्केटबॉल खिलाड़ी एनबीए एकेडमी  इंडिया में शामिल हुआ था, यह एकेडमी  देश के खास टैलेंट के लिए एक विशिष्ट प्रशिक्षण केंद्र है, साल 2018 में वह ऑस्ट्रेलिया की एनबीए ग्लोबल एकेडमी में शामिल हो गए।

पिछले साल प्रिंसपाल सिंह टीम इग्नाइट की ओर से एनबीए जी-लीग में खेलने चले गए, यह लीग उनके करियर की दिशा में एक कदम के रूप में मानी जा सकती है। इसके बाद 20 वर्षीय खिलाड़ी ने बुधवार को सैक्रामेंटो किंग्स के लिए एनबीए समर लीग में डेब्यू किया है।

एनबीए समर लीग एनबीए द्वारा आयोजित एक ऑफ-सीजन प्रतियोगिता है, जहां टीमें अपने नियमित लाइन-अप के अलावा बाकी टीमों के खिलाड़ियों (खासतौर पर युवाओं) को आजमाती है। प्रिंसिपल सिंह अपने डेब्यू के दौरान वाशिंगटन विजार्ड्स के खिलाफ 1 मिनट 22 सेकेंड के लिए कोर्ट पर डटे रहे थे।

एनबीए समर लीग में सतनाम सिंह (Satnam Singh) के बाद प्रिंसपाल सिंह खेलने वाले दूसरे भारतीय हैं और ऐसा करने वाले पहले एनबीए एकेडमी  ग्रेजुएट बने हैं।

प्रिंसपाल सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, "मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इतना आगे तक पहुंचा पाऊंगा। यह कई बार एक सपने जैसा लगता है, मैंने जी-लीग में खेला, अब समर लीग और मेरा अगला लक्ष्य एनबीए में खेलना है। ”

"मेरा लक्ष्य एनबीए में एक लंबा करियर बनाना है और मैं उस सपने को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं।"

अब तक युवा प्रिंसपाल सिंह के लिए एनबीए समर लीग सीखने का अच्छा अनुभव रहा है।

प्रिंसपाल सिंह ने कहा, "मुझे समर लीग में बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिला है, और यह वास्तव में मेरे खेल को बेहतर बनाने में मदद कर रहा है। यह सीखना बहुत अच्छा है कि साथ के खिलाड़ी कैसा व्यवहार करते हैं। ”

एनबीए समर लीग में सैक्रामेंटो किंग्स के मुख्य कोच बॉबी जैक्सन (Bobby Jackson) हैं, वह एनबीए टीम के पूर्व गार्ड थे और वह प्रिंसपाल सिंह पर भी कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

भारतीय हूपस्टर ने कहा, "कोच मुझे प्रोत्साहित करते हैं, उन्होंने मुझे डिफेंस पर ध्यान केंद्रित करने और रिबाउंड के लिए अच्छी स्थिति में रहने के लिए कहा है।"

उन्होंने कहा, 'मैं जब भी खेलता हूं तो अपना 100 फीसदी देना चाहता हूं, जिससे मैं आगे बढ़ता रहूं। वास्तव में मैं अपना पहला अंक जल्द से जल्द हासिल करना चाहता हूं।"

प्रिंसपाल सिंह शनिवार को मेम्फिस ग्रिजलीज़ के खिलाफ अगला कदम उठाने की कोशिश करेेगे, और वह धीरे-धीरे सतनाम सिंह के नक्शेकदम पर चलने के लिए तैयार हैं, जो एनबीए में शामिल होने वाले एकमात्र भारतीय हैं।