75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलंपिक खिलाड़ियों को किया सलाम

पीएम नरेंद्र मोदी ने खेलों को मुख्यधारा में लाने के लिए ओलंपियन्स की तारीफ की, तो वहीं देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को भारतीय दल के लिए हाई-टी की मेजबानी की।

लेखक ओलंपिक चैनल
फोटो क्रेडिट Christian Petersen/ Getty Images

15 अगस्त को भारत के 75वें स्वंतत्रता दिवस के मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेनेवाले एथलीटों की तारीफ की और उन्हें आनेवाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणास्त्रोत बताया और इसके लिए धन्यवाद भी दिया।

”पीएम मोदी ने नई दिल्ली में लाल किले से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि “टोक्यो ओलंपिक में जिन एथलीटों ने हमें गौरवान्वित किया है, वे आज यहां हमारे बीच हैं। मैं राष्ट्र से आज उनकी उपलब्धि की सराहना करने का आग्रह करता हूं। उन्होंने न केवल हमारा दिल जीता है बल्कि आने वाली पीढ़ियों को भी प्रेरित किया है’’।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि “एक समय था जब खेलों को मुख्यधारा का हिस्सा नहीं माना जाता था। माता-पिता बच्चों से कहते थे कि अगर वे खेलते रहे तो उनका जीवन खराब होगा। लेकिन आज खेल और फिटनेस के महत्व के बारे में पूरे देश में जागरूकता फैली हुई है। और हमने इस बार ओलंपिक में इसका अनुभव किया है’’।

भारत ने “टोक्यो ओलंपिक में सात पदक जीतेहैं, जिसमें ज्यादातर पदक सिंगल एडिशन में मिले थे, इसमें देश का पहला ट्रैक एंड फील्ड गोल्ड मेडल भी शामिल है, जो कि भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) की वजह से मिला था।

नीरज चोपड़ा के साथ वेटलिफ्टिंग में देश के लिए सिल्वर हासिल करनेवाली Tमीराबाई चानू (Mirabai Chanu) और कांस्य पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के सदस्यों ने साथ मिलकर रविवार को लाल किले पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिस्सा लिया।

लंदन 2012 की कांस्य पदक विजेता मेरी कॉम (Mary Kom) जिन्होंने टोक्यो 2020 में अपना आखिरी ओलंपिक प्रदर्शन किया, वह भी देश की राजधानी में हुए इस खास आयोजन के दौरान मौजूद रहीं।

बता दें कि शनिवार को भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन ( भारत के राष्ट्रपति का आधिकारिक आवास ) के सांस्कृतिक केंद्र में टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा ले चुके भारतीय दल के लिए हाई-टी की मेजबानी की है।