IFSC क्लाइंबिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप: सेमीफाइनल में जगह बनाने से चूके कुमार गौरव और ऋतिक मार्ने

मॉस्को इवेंट में भारत की चुनौती कुमार गौरव के 83वें स्थान पर रहने के साथ समाप्त हो गई, जबकि ऋतिक मार्ने 93वें स्थान पर रहे।

लेखक लक्ष्य शर्मा
फोटो क्रेडिट Maja Hitij/ Getty Images

IFSC क्लाइंबिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप 2021 में भारत का अभियान कुमार गौरव और ऋतिक मार्ने के बाहर हो जाने के बाद समाप्त हो गया। दोनों ही खिलाड़ी मास्को में मेंस लीड इवेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे।

इरिना विनर-उस्मानोवा जिमनास्टिक पैलेस में, 26 साल के कुमार गौरव 83वें स्थान पर रहे, जबकि ऋतिक मार्ने 96 में से 93वें स्थान पर रहे। एक क्लाइंबर को छह मिनट में, बिना गिरे 15 मीटर ऊंची कृत्रिम दीवार को पार करना होता है।

इस इवेंट में एथलीटों को हार्नेस का उपयोग करने की अनुमति होती है। कई एथलीट दूरी को मैनेज करते हैं तो सबसे तेज समय वाले को ऊपर स्थान दिया जाता है।

इसके अलावा, लीड में प्रत्येक होल्ड की संख्या 1 से 35 तक होती है। यदि कोई क्लाइंबर निर्धारित समय के अंदर टॉप पर पहुंचने में विफल रहता है, तो उनके स्कोर को हाई होल्ड से पता किया जाता है, जिसे वह समाप्त करने से पहले मैनेज करते हैं।

इस बीच, यदि वो अगले होल्ड तक पहुँचने के दौरान गिरते हैं, तो स्कोरबोर्ड पर स्कोर को '+' द्वारा दर्शाया जाता है। मॉस्को वर्ल्ड्स में, कुमार गौरव ने 13+ के स्कोर के साथ समाप्त किया था, जबकि ऋतिक मार्ने को उनके प्रयास के लिए 12+ का स्कोर मिला।

इससे पहले, कुमार गौरव मेंस स्पीड इवेंट के क्वालिफिकेशन में बाहर हो गए थे, जबकि ऋतिक मार्ने और कुमार गौरव मेंस बोल्डरिंग इवेंट में भी हाई- क्वालिटी प्रतियोगिता भी कोई मुकाबला नहीं कर पाए।

IFSC क्लाइंबिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप 2021 का समापन मंगलवार को मुख्य सेमीफाइनल और फाइनल के साथ होगा।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स