डेनमार्क ओपन: जानिए, भारतीय पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ियों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 

प्रकाश पादुकोण और किदांबी श्रीकांत ने डेनमार्क ओपन में एक-एक बार पुरुष एकल खिताब जीता है।

लेखक दिनेश चंद शर्मा

वार्षिक बैडमिंटन टूर्नामेंट डेनमार्क ओपन (Denmark Open) 19 अक्टूबर को ओडेंस स्पोर्ट्स पार्क में शुरू होगा। इस टूर्नामेंट में पूर्व विश्व चैंपियन और डेनमार्क के दिग्गज मोर्टन फ्रॉस्ट (Morten Frost) सात खिताबों के साथ सबसे सफल पुरुष एकल खिलाड़ी रहे हैं। 

वहीं, भारतीय पुरुष बैडमिंटन खिलाड़ियों में राष्ट्रमंडल खेलों (CWG) के स्वर्ण पदक विजेता प्रकाश पादुकोण (Prakash Padukone) और प्रमुख भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) ने एक-एक बार खिताब जीता है। 

आइए, एक नज़र डालते हैं BWF वर्ल्ड टूर सुपर 750 इवेंट में भारतीय पुरुष एकल खिलाड़ियों के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर:

बार्सिलोना स्पेन मास्टर्स 2020 में शुभांकर डे पर किदांबी श्रीकांत की रोमांचक जीत

*प्रकाश पादुकोण, 1980 चैंपियन *

भारतीय बैडमिंटन दिग्गज पादुकोण ने 1980 में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दर्ज किया। क्योंकि, उन्होंने फ्लेमिंग डेल्फ़्स (Fleming Delfs), मोर्टन फ्रॉस्ट और स्वेंड प्री (Svend Pri)जैसे कुछ बेहतरीन यूरोपीय शटलरों के खिलाफ अपना दबदबा दिखाया और डेनमार्क ओपन और ऑल इंग्लैंड ओपन (All England Open) खिताब पर कब्जा करने वाले पहले भारतीय बने। 

पूर्व दुनिया में नंबर 1 पादुकोण फाइनल में स्थानीय स्टार फ्रॉस्ट के खिलाफ थे। उन्होंने पहले गेम में धैर्य से अपने प्रतिद्वंद्वी का सामना करते हुए 15-7 की बढ़त ली। लेकिन, दूसरे गेम में उनके प्रतिद्वंद्वी ने मजबूत वापसी की। हालांकि, पादुकोण को चुनौती देने के लिए यह पर्याप्त नहीं थी। क्योंकि, उन्होंने अपनी लय को बनाए रखा और 18-13 से गेम जीतकर पहले और एकमात्र डेनमार्क ओपन खिताब पर कब्जा जमाया। 

*किदांबी श्रीकांत, 2017 चैंपियन *

2017 में डेनमार्क ओपन में पुरुष एकल खिताब जीतने के लिए एक भारतीय खिलाड़ी के लिए पादुकोण की जीत के बाद तीन दशक से अधिक समय लग गया। 

पूर्व विश्व नंबर 1 ने अपने भारतीय हमवतन शुभंकर डे (Subhankar Dey) को पहले राउंड में 21-17, 21-15 से हराकर दक्षिण कोरिया के जियोन ह्योक-जिन (21-13, 8-21, 21-18) के खिलाफ कड़े मुकाबले में जीत दर्ज की। क्वार्टर फाइनल में दूसरे राउंड और दूसरी वरीयता प्राप्त विक्टर एक्सेलसन (14-21, 22-20, 21-7) को हराया।

हालांकि, आठवीं वरीयता प्राप्त भारतीय ने सेमीफाइनल में हांगकांग के विन्सेंट वोंग विंग की (21-18, 21-7) और फाइनल में ली ह्यून-इल (21-10, 21-5) के खिलाफ व्यापक जीत दर्ज कर पहला डेनमार्क ओपन खिताब है। 

*पारुपल्ली कश्यप, 2014 सेमीफाइनलिस्ट *

ओलंपियन पारुपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) ने 2014 डेनमार्क में पुरुष एकल वर्ग में अच्छा प्रदर्शन किया था, लेकिन अंतिम चार की स्टेज से आगे निकलने में असफल रहे। 

गैर वरीयता प्राप्त भारतीय ने अपने अभियान की शुरुआत पहले राउंड में इंग्लैंड के राजीव ओसेफ (Rajiv Ouseph) पर 21-15, 21-18 से जीत के साथ की। इसके बाद उन्होंने दूसरे राउंड में इंडोनेशिया के डायोनिसियस ह्योम रूंबाका (Dionysius Hayom Rumbaka) को 21-17, 17-21, 22-20 से शिकस्त दी। 

बाद में राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता क्वार्टर फाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त और स्थानीय पसंदीदा जान ओ. जोर्गेनसन (Jan O. Jorgensen) को मात देकर आगे बढ़े, लेकिन उनका अभियान सेमीफाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त चेन लोंग (Chen Long) से 16-21, 15-21 से हार के साथ खत्म हो गया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स