ग्रां प्री ऑफ स्पेन: वीजा प्रक्रिया में देरी के कारण भारतीय एथलीट नहीं होंगे इस टूर्नामेंट का हिस्सा

इससे पहले भी इसी कारण से पिछले महीने रोम में आयोजित हुई माटेओ पेलिकोन रैंकिंग सीरीज से भी भारतीय पहलवानों ने अपना नाम वापस ले लिया था।

लेखक रौशन कुमार

राष्ट्रमंडल खेल 2022 के लिए वीजा प्रक्रिया पूरा नहीं होने के कारण स्पेन के मैड्रिड में आठ से 10 जुलाई तक आयोजित होने वाली ग्रां प्री ऑफ स्पेन कुश्ती टूर्नामेंट से भारतीय पहलवानों ने अपना नाम वापस ले लिया है।

इससे पहले भी इसी कारण से पिछले महीने रोम में आयोजित हुई माटेओ पेलिकोन रैंकिंग सीरीज से भी भारतीय पहलवानों को अपना नाम वापस लेना पड़ा था। 

भारतीय कुश्ती संघ (WFI) ने माटेओ पेलिकोन रैंकिंग सीरीज में प्रतिस्पर्धा करने वाले पहलवानों की घोषणा कर दी थी। लेकिन बाद में उन्हें एथलीटों का नाम वापस लेना पड़ा था, क्योंकि खिलाड़ियों को ब्रिटेन के बर्मिंघम में आयोजित होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए वीजा प्रक्रिया पूरी करनी थी। 

मैड्रिड में आयोजित होने वाली इस टूर्नामेंट को भारतीय एथलीट, राष्ट्रमंडल खेल से पहले तैयारी के रूप में देख रहे थे। हालांकि, वीजा प्रक्रिया की वजह से भारतीय पहलवान मैड्रिड मीट में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

भारतीय कुश्ती संघ (WFI) ने न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा, “भारतीय पहलवान स्पेन में प्रतिस्पर्धा नहीं कर पाएंगे क्योंकि अभी तक उनकी वीजा औपचारिकताएं पूरी नहीं हुईं हैं। आमतौर पर सभी एथलीटों की वीजा प्रक्रिया एक साथ की जाती थी, लेकिन इस बार उन्हें अलग-अलग बैच में बांट कर वीजा आवंटित करने के लिए बुलाया जा रहा है। इसी वजह से इस प्रक्रिया में अधिक समय लग रहा है।”

अब अगले दो दिन छुट्टी (शनिवार और रविवार) होने के कारण यह प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी, जिसके परिणामस्वारूप एथलीटों का स्पेन जाना मुश्किल है।

भारतीय दिग्गज पहलवान बजरंग पुनिया राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी के लिए यूएसए के मिशिगन यूनिवर्सिटी जाने वाले थे, लेकिन वीजा प्रक्रिया में देरी के कारण उन्हें यहां भी देरी हो सकती है। बजरंग के अलावा टोक्यो ओलंपियन दीपक पुनिया सहित दो और पहलवान 30 जूलाई तक इस वेन्यू पर अभ्यास करने वाले हैं।

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में कुश्ती प्रतियोगिता 5 अगस्त से शुरू होगी। 

भारतीय पहलवान आगामी राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अपने-अपने नेशनल कैंप में तैयारी करना जारी रखेंगे। पुरुष पहलवानों का शिविर सोनीपत के SAI केंद्र में स्थित हैं, जबकि महिला पहलवान लखनऊ के SAI केंद्र में अभ्यास कर रहीं हैं।

WFI के मुताबिक अगर वीजा औपचारिकता समय पर पूरी हो जाती है तो पहलवान ट्यूनीशिया के ट्यूनिस में 14 से 17 जुलाई तक आयोजित होने वाली जौहेयर सघेयर रैंकिंग सीरीज में प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।

राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी वाले दो बड़े टूर्नामेंट की भरपाई के लिए अब WFI बर्मिंघम में प्रतिस्पर्धा करने वाले पहलवानों के लिए एक्सपोजर ट्रिप का आयोजन करेगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स