कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप: पूनम यादव ने जीता सिल्वर, विकास ठाकुर और अरोकिया अलीश ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

भारतीय टीम ने कॉमनवेल्थ मीट में अब तक 12 मेडल अपने नाम किया है। हालाकि, ताशकंद में ही आयोजित वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भारत के झोली में महज एक ही मेडल आई है।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

उज्बेकिस्तान के ताशकंद में आयोजित कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में मंगलवार को भारतीय वेटलिफ्टर पूनम यादव ने 76 किग्रा का भार उठा कर वूमेंस वर्ग में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है।

कॉमनवेल्थ गोल्ड मेडलिस्ट पूनम ने कुल 220kg (98+122) किग्रा का भार उठाकर ताशकंद में ही आयोजित वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में सातवें पायदान पर रहीं।

उनकी ही हमवतन आर अरोकिया अलिश ने कुल 214kg (91+123) का भार उठाकर वूमेंस वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया और अपने ही वेट कैटेगरी में 16 खिलाड़ियों के बीच वर्ल्ड मीट में 9वें स्थान पर रहीं।

कनाडा की माया लेलोर ने कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में कुल 229kg (99+130) का भार उठाकर गोल्ड मेडल जीतने में कामयाब रहीं। इस जीत के साथ ही उन्होंने बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के लिए भी क्वालीफाई कर लीया।

इस कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में एथलिटों को संयुक्त रुप से स्नैच और क्लीन एंड जर्क इवेंट के लिए ही अवार्ड दिया जा रहा है।

कोरिया की ली मिन-जी ने ओवरॉल वर्ल्ड चैंपियशिप के क्लीन एंड जर्क इवेंट में गोल्ड मेडल अपनी झोली में डाला। उन्होंने पहले स्नैच में 105 किग्रा का भार उठाया लेकिन वह शीर्ष तीन में नहीं पहुंच सकीं। हालांकि बाद में उन्होंने क्लीन एंड जर्क में 139 किग्रा का भार उठाकर कुल 244 किग्रा का भार उठाया और शीर्ष पर पहुंच गईं।

इससे पहले, सात बार के राष्ट्रीय चैंपियन और दो बार के CWG मेडलिस्ट विकास ठाकुर ने कॉमनवेल्थ मीट में 96 किग्रा मेंस वर्ग में संयुक्त रुप से कुल 339kg (150+189) का भार उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

इसी भार वर्ग में जगदीश विश्वकर्मा ने कुल 328kg (142+186) का भार उठाया लेकिन कोई भी मेडल उनके हाथ नहीं लगा।

दोनों भारतीय वेटलिफ्टर्स वर्ल्ड मीट में शीर्ष 20 लीडरबोर्ड से बाहर रहे। 96 किग्रा भार में कुल 38 वेटलिफ्टर्स ने भाग लिया था जिसमें ठाकुर 21वें पायदान पर रहे जबकि विश्वकर्मा 23 वें स्थान पर रहे।

कनाडा के बॉडी सैंटवी ने कुल 379 किग्रा का भार उठाकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उन्होंने स्नैच में 178 किग्रा का भार उठाया और वर्ल्ड मीट में दूसरे स्थान पर थे वहीं क्लीन जर्क में उन्होंने 201 किग्रा भार उठाया जिससे उनकी रैंकिंग पांचवें नंबर पर पहुंच गई।

साइप्रस के एंटोनिस मार्टासिडिस ने कुल 343 किग्रा (153+190) का भार उठाकर कांस्य पदक अपने नाम किया।

वर्ल्ड चैंपियनशिप में कोलंबिया के लेसमैन पेरेडेस ने स्नैच इवेंट में 187 किग्रा का भार उठाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इसके बाद उन्होंने क्लीन एंड जर्क इवेंट में 213 किग्रा के साथ 400 किग्रा का संयुक्त भार उठाकर दो गोल्ड मेडल जीते।

क़तर के फारेस अल-बख ने क्लीन एंड जर्क इवेंट में 222 किग्रा का भार उठाकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उन्होंने स्नैच में 172 किग्रा का भार उठाकर कुल 394 किग्रा का भार उठाया।

भारतीय वेटलिफ्टिर्स की टीम ने कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में अभी तक तीन गोल्ड मेडल सहीत कुल 12 मेडल जीते हैं। हालंकि, वर्ल्ड मीट के क्लीन एंड जर्क इवेंट में भारत की झोली में अब तक सिर्फ एक गोल्ड मेडल आया है।

अब भारत की ओर से गुरुवार को 87 किग्रा वूमेंस वर्ग में अनुराधा पावुराज खेलते हुए दिखाई देंगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स