कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, टेबल टेनिस: शरत कमल ने कॉमनवेल्थ गेम्स में जीता दूसरा पुरुष एकल स्वर्ण पदक

शरत कमल ने फाइनल में लियाम पिचफोर्ड को 4-1 से हराकर कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में अपना तीसरा और भारत के लिए 22वां स्वर्ण पदक जीता।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट Getty Images

भारतीय दिग्गज टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत कमल ने ब्रिटेन के बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पुरुष एकल टेबल टेनिस में स्वर्ण पदक जीता।

दिग्गज खिलाड़ी ने नेशनल एग्जीबिशन सेंटर में घरेलू पसंदीदा और दूसरी वरीयता प्राप्त लियाम पिचफोर्ड को 4-1 (11-13, 11-7, 11-2, 11-6, 11-8) से हराया।

यह शरत का बर्मिंघम 2022 का तीसरा स्वर्ण पदक है, उन्होंने श्रीजा अकुला के साथ पुरुष टीम और मिश्रित युगल भी जीता है।

40 वर्षीय शरत कमल ने मेलबर्न 2006 में अपना पहला मेंस सिंगल्स टेबल टेनिस स्वर्ण पदक जीता था और वह एकल स्वर्ण पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं।

टेबल टेनिस फाइनल का यह मुकाबला कुछ तेज रैलियों के साथ शुरू हुआ। दोनों खिलाड़ियों ने अपने शॉट्स के लिए बेहतरीन दम-खम दिखाया और वे एक-दूसरे के रिटर्न तक पहुंचने में सफल रहे। अंत में शरत एक बैकहैंड लगाने से चूक गए, जिससे पिचफोर्ड शुरुआती गेम जीतने में सफल रहे।

भारतीय दिग्गज ने इसके बाद शानदार वापसी करते हुए इंग्लैंड के खिलाड़ी को काफी परेशान किया और देखते ही देखते इस मुकाबले में 2-1 की बढ़त बना ली।

शरत ने एक बार फिर चौथे गेम में 6-1 की बढ़त बना ली और इसके बाद पिचफोर्ड ने 6-5 तक वापसी की। हालांकि भारतीय पैडलर ने इसके बाद अपने प्रतिद्वंद्वी को कोई मौका नहीं दिया और चौथा गेम जीतते हुए 3-1 से बढ़त बना ली।

इसके बाद भी शरत ने अपनी लय को बरकरार रखा और पांचवें गेम में अपने शक्तिशाली शॉट के जरिए तेजी से अंक हासिल किए।

अंत में शरत कमल ने एक और शक्तिशाली क्रॉस-टेबल फोरहैंड खेला, जिसे वापस करने में पिचफोर्ड नाकाम रहे और शरत ने यह मुकाबला 4-1 से जीतते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

इसी के साथ भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में तीन स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक के साथ अपने टेबल टेनिस अभियान को समाप्त किया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स