कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, पुरुष हॉकी: फाइनल में प्रवेश के साथ भारत ने सुनिश्चित किया एक और पदक

भारत की ओर से अभिषेक, मंदीप सिंह और जुगराज ने एक-एक गोल किए जबकि दक्षिण अफ्रीका की तरफ से रयान जुलियस और मुस्तफा ने एक-एक गोल अर्जित किया।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

ब्रिटेन के बर्मिंघम में जारी राष्ट्रमंडल खेल 2022 में शनिवार को भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने सेमीफाइनल 1 में दक्षिण अफ्रीका को 3-2 से हराकर फाइनल में जगह सुनिश्चित की। यह मुकाबला यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम में खेला गया।

भारत की ओर से अभिषेक ( 20वें मिनट में), मंदीप सिंह ( 28वें मिनट में) और जुगराज सिंह (58वें मिनट) ने एक- एक गोल किए। वहीं दक्षिण अफ्रीक के रयान जुलियस ( 33वें मिनट में) और मुस्तफा (59वें मिनट) ने एक-एक गोल दागे।

मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने खेल की शुरुआत काफी आत्मविश्वास के साथ की। पहले क्वार्टर की शुरुआत के कुछ ही मिनट बाद भारत ने पेनल्टी कॉर्नर हासिल कर विपक्षी टीम को दबाव में ला दिया। लेकिन अफ्रीका के गोलकीपर ने भारतीय स्टार ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह के प्रयास को असफल कर दिया।

इसके बाद भारत को पेनल्टी कॉर्नर के रूप में एक और अवसर मिला लेकिन इस अवसर को भी भारत ने गवां दिया और इसी के साथ खेल का पहला क्वार्टर गोलरहित रहा।

भारतीय खिलाड़ियों ने पिछले मैच की लय को बरकरार रखते हुए इस मैच में भी विपक्षी टीम पर लगातार गोल की खोज में दबाव बनाए रखा।

टोक्यो 2020 की कांस्य पदक विजेता टीम को दूसरे क्वार्टर में गोल की खोज थी और भारतीय खिलाड़ी अभिषेक ने खेल 20वें मिनट में फील्ड गोल कर टीम का खाता खोल दिया।

इसके बाद मेन इन ब्लू एक बार फिर अपने चित-परिचित अंदाज में पोजेशन को अपने पास रखते हुए विपक्षी टीम के डी में जा पहुंची।

लेकिन दक्षिण अफ्रीका के गोलकीपर गोवान जोंस ने शानदार डिफेंस का मुजाहिरा करते हुए भारतीय टीम के अटैक को नाकाम कर दिया।

खेल के पहले हाफ के अंत में अब महज दो मिनट का समय बचा था कि भारतीय टीम के जर्सी नंबर 11 मंदीप सिंह ने एक और गोल कर टीम की बढ़त दोगुनी कर दी और इसी के साथ खेल का पहला हाफ खत्म हुआ।

मैच में 2-0 से पीछे चल रही दक्षिण अफ्रीका की टीम ने तीसरे क्वार्टर की शुरुआत आक्रामक अंदाज में की और भारतीय डिफेंस पर दबाव बनाना शुरू कर दिया।

इस क्वार्टर की शुरुआत के तीन मिनट बाद ही अफ्रीका टीम को पहली सफला मिली। मेन इन व्हाइट के जर्सी नंबर 19 रयान जुलियस ने पेनल्टी कॉर्नर के जरिए गोल कर अपनी टीम का खाता खोल दिया। अब यहां से दोनों टीमों के लिए खेल काफी महत्वपूर्ण हो गया।

खेल का चौथा क्वार्टर रोमांच के सातवें आसमान पर था। दोनों टीमें पोजेशन के लिए लगातार प्रयास कर रही थी वहीं दोनों टीमों का डिफेंस भी काफी मजबूत दिख रहा था।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां से एक भी गोल उन्हें मैच में वापसी का कोई मौका नहीं देता। दूसरी ओर विश्व रैंकिंग की चौथी नंबर की टीम भारत के खिलाड़ियों ने विपक्षी टीम की डी में घुसने का लगातार प्रयास कर रही थी और उनका ये प्रयास सफल भी रहा।

भारतीय टीम को एक ओर पेनल्टी कॉर्नर मिला जिसे जुगराज सिंह ने गोल में तब्दील कर भारत को तीसरी सफलता दिला दी।

खेल का रोमांच अभी खत्म नहीं हुआ था। मैच के खत्म होने से एक मिनट पहले अफ्रीका की टीम ने भी एक गोल कर अपनी हार के अंतर को काम किया।

आखिर में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को इस मुकाबले में 3-2 से हराकर फाइनल का टिकट हासिल कर लिया।

ग्राहम रीड की टीम ने टूर्नामेंट का आगाज घाना को 11-0 से हराकर धमाकेदार अंदाज में किया था और दूसरे मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ 4-4 से ड्रॉ खेला था।

यही नहीं भारतीय टीम ने तीसरे मैच में कनाडा को 8-0 से हराया था तो वहीं पूल बी के अंतिम मैच में वेल्स 4-1 से हारकर सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित की थी।

अब भारतीय टीम मेजबान इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले सेमीफाइनल 2 के विजेता के साथ सोमवार को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के पुरुष हॉकी इवेंट के फाइनल में अपनी चुनौती पेश करेगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स