भारतीय पुरुष हॉकी टीम को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के फाइनल में मिली हार, रजत पदक से करना पड़ा संतोष

कॉमनवेल्थ गेम्स 2014 की रजत पदक विजेता भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार झेलनी पड़ी और उन्होंने रजत पदक के साथ अपना अभियान समाप्त किया।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

बर्मिंघम में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के आखिरी दिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम को ऑस्ट्रेलिया ने 7-0 से हराकर स्वर्ण पदक जीता और इस तरह से भारत को रजत पदक से ही संंतोष करना पड़ा।

बता दें कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम राष्ट्रमंडल खेल के 2010 और 2014 संस्करण में रजत पदक जीतने में कामयाब रही थी और 2018 संस्करण में चौथे स्थान पर रही थी। 

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के गोल्ड मेडल मुकाबले के शुरुआत में दोनों टीमें आक्रामक अंदाज में नजर आईं, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जल्द ही गोल के मौके बनाए और मुकाबले के 9वेंं मिनट में ब्लेक गोवर्स ने एक पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर टीम का खाता खोला। 

इसके बाद 14वें मिनट में नाथन एफ्रैम्स ने एक फील्ड गोल कर टीम की बढ़त को दोगुना कर दिया। इस तरह पहले क्वार्टर के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 से बढ़त बनाए रखी। 

दूसरे क्वार्टर में भारतीय टीम थोड़ी आक्रामक अंदाज में नजर आई, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बीच-बीच में गेंद को अपने कब्जे में लेने में सफल रहे। 

आस्ट्रेलिया टीम ने 22वें मिनट में एक और पेनल्टी कॉर्नर हासिल करते हुए उसे गोल में तब्दील कर 3-0 से बढ़त बनाई और 26वें मिनट में टॉम विकहैम और 27वें मिनट में जैकब एंडरसन ने फील्ड गोल कर हाफ टाइम तक स्कोर को 5-0 तक पहुंचा दिया। 

इस बीच 27वें मिनट में आकाशदीप सिंह ने गेंद को अपने कब्जे में लेकर गोल दागने का प्रयास किया, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गोलकीपर ने बड़ी आसानी से इसे सुरक्षित कर लिया। 

मनप्रीत सिंह की अगुवाई में भारतीय टीम एक नई रणनीति के साथ सेकेंड हाफ में मैदान पर आई और अपने बेहतरीन डिफेंस से सभी को प्रभावित किया।

लेकिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी नाथन एफ्रैम्स ने अपना दबदबा बरकरार रखते हुए तीसरे क्वार्टर में एक और गोल दागा। वहीं, चौथे और आखिरी क्वार्टर की शुरुआत में फ्लिन ऑगिल्वी ने फील्ड गोल कर 7-0 से बढ़त बना ली।   

दूसरी तरफ भारतीय टीम अपना पहला गोल की तलाश में लगी थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की डिफेंस के आगे भारतीय खिलाड़ी कोई मौका नहीं बना सके।   

मुकाबले के खत्म होने से छह मिनट पहले ऑस्ट्रेलिया के टॉम विकहैम ने एक और फील्ड गोल किया, लेकिन इस गोल को रेफरी द्वारा खारिज कर दिया गया।

इस तरह भारत को पुरुष हॉकी के गोल्ड मेडल मुकाबले में 7-0 से हार का सामना करना पड़ा। 

बता दें कि घाना और वेल्स के खिलाफ गोल की दो हैट्रिक लगाने वाले हरमनप्रीत सिंह टीम के लिए बेहद अहम खिलाड़ी रहे। उन्होंने राष्ट्रमंडल खेल के इस संस्करण में अब तक कुल 9 गोल दागे हैं। 

साल 1998 में शुरू होने के बाद से राष्ट्रमंडल खेलों में सभी पुरुष हॉकी खिताब जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टोक्यो ओलंपिक में भारत के खिलाफ अपना आखिरी मैच 7-1 से जीता था।

भारत ने राष्ट्रमंडल खेलों में कभी स्वर्ण पदक नहीं जीता है। इसके अलावा उन्हें, दुनिया की नंबर 1 टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो बार फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने कुल 61 पदक जीते हैं जिसमें 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य शामिल हैं। 

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय पुरुष हॉकी टीम का प्रदर्शन

मनप्रीत सिंह की अगुवाई में दुनिया की पांचवें नंबर की टीम भारत ने बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में शानदार प्रदर्शन किया। 

उन्होंने पूल बी में शीर्ष पर रहने के लिए चार में से तीन मुकाबलों में जीत दर्ज की थी। इस जीत में घाना के खिलाफ 11-0 की बड़ी जीत शामिल है। 

इसके अलावा कनाडा के खिलाफ 8-0 और वेल्स के खिलाफ भारतीय टीम ने 4-1 के अंतर से जीत दर्ज की थी। भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 4-4 से ड्रॉ खेला था। 

वहीं, सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 3-2 से हराकर फाइनल का टिकट पक्का किया था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स