कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, जूडो: सुशीला देवी ने रजत तो विजय कुमार ने जीता कांस्य पदक

महिलाओं के 48 किग्रा फाइनल में दक्षिण अफ्रीका की गेरोने व्हाइटबोई से हारने वाली सुशीला देवी ने गोल्ड कोस्ट 2018 में भी रजत पदक जीता था।

लेखक ओलंपिक
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

भारत की सुशीला देवी लिकमाबम ने सोमवार को बर्मिंघम 2022 में महिलाओं के 48 किग्रा फाइनल में रजत पदक जीता। इसी के साथ सुशीला ने दूसरी बार राष्ट्रमंडल खेलों में जूडो में रजत पदक हासिल किया है।

भारतीय जूडोका सुशीला देवी ने महिलाओं के 48 किग्रा फाइनल में दक्षिण अफ्रीका की माइकला व्हाइटबूई से 4 मिनट 25 सेकेंड में हार गईं।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में जूडो में भारत का दिन मिला-जुला रहा है। भारत के चार जूडोका मेडल राउंड में पहुंचे थे, जहां दो ने पदक हासिल किए और बाकी दो जूडोका खाली हाथ रह गए।

हार के बावजूद, सुशीला देवी ने रजत पदक जीता, जो राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में उनका दूसरा पदक है। आपको बता दें कि साल 2014 ग्लासगो में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी सुशीला ने रजत पदक जीता था।

इससे पहले दिन की शुरुआत में सुशीला लिकमाबम ने सेमीफाइनल में अफ्रीकी चैंपियन मॉरीशस (विश्व नंबर 30) की प्रिसिला मोर्नाड और क्वार्टर में मलावी की टोक्यो ओलंपियन हैरियट बोनिफेस (विश्व नंबर 148) को हराया। 27 वर्षीय भारतीय जुडोका ने IPPON (जिसमें मूव्स से जीत के लिए पूरा एक अंक दिया जाता है) से दोनों राउंड जीते।

वहीं जूडोका विजय कुमार यादव ने पुरुषों के 60 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक मैच में साइप्रस के पेट्रोस क्रिस्टोडौलाइड्स को हराकर बर्मिंघम में भारत को जूडो में दूसरा पदक दिलाया।

इससे पहले दिन में 155वें नंबर के विजय कुमार यादव क्वार्टर फाइनल में रियो ओलंपियन और दुनिया के 36वें नंबर के आस्ट्रेलिया के जोशुआ काट्ज से हार गए। राउंड ऑफ 16 में भारतीय ने मॉरीशस के विंस्ले गंगया को हराया था।

पुरुषों के 66 किग्रा भार वर्ग में भारत के जुडोका जसलीन सिंह सैनी कांस्य पदक मुकाबला हार गए हैं। इस तरह एक संभावित पदक भारत की झोली में नहीं आ पाया। जसलीन को ऑस्ट्रेलिया के दो बार के ओलंपियन नाथन काट्ज ने हराया।

जसलीन को सेमीफाइनल में स्कॉटलैंड के फिन्ले एलन ने हराया था, जबकि इससे पहले उन्होंने शुरू में ब्रिटेन के नथॉन बर्न्स और राउंड ऑफ 16 में वानुआटु के मैक्सेन कुगोला को हराया था।  

महिलाओं के 57 किग्रा भार वर्ग के कांस्य पदक मुकाबले में भारत की जूडोका सुचिका तारियाल को मॉरिसस की जूडोका क्रिस्टियान लीजेंटिल से हार का सामना करना पड़ा।

रेपचेज से सुचिका को कांस्य पदक मुकाबले में भाग लेने का मौका मिला था। जो उन्होंने दक्षिण अफ्रीका की डॉन ब्रेटेंबैक को हराकर हासिल किया था। शुरुआत में वह क्वार्टर फाइनल में कनाडा की पूर्व वर्ल्ड चैंपियन क्रिस्टा डेगुची से हार गई थीं और राउंड ऑफ 16 में जाम्बिया की रीटा काबिंडा को उन्होंने हरा दिया था।

दो अन्य भारतीय जूडोका दीपक देसवाल (पुरुषों के 100 किग्रा) और तुलिका मान (महिलाओं के 78 किग्रा) बुधवार को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में एक्शन में होंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स