महिला टीम टेबल टेनिस दबदबा जारी रखते हुए चीनी जनवादी गणराज्य ने जीता लगातार चौथा स्वर्ण

ओलंपिक टेबल टेनिस के महिला टीम ख़िताब पर 100 प्रतिशत काबू बनाये रखा चीन ने, स्वर्ण पदक मुक़ाबले में जापान को 3-0 से दी शिकस्त।

फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

बीजिंग 2008, लंडन 2012, रियो 2016। और अब, टोक्यो 2020।

टीम प्रतिस्पर्धाओं को ओलंपिक टेबल टेनिस प्रतियोगिता में 2008 में पहली बार शामिल किया गया था। 13 साल बाद, महिला टीम कार्यक्रम के दुसरे ओलंपिक चैंपियन की तलाश जारी रहेगी – क्योंकि यह खिताब लगातार चौथी बार चीनी जनवादी गणराज्य ने अपने नाम कर लिया।

गुरूवार (5 अगस्त) को चीन ने जापान को 3-0 से पराजित कर ओलंपिक खेल टोक्यो 2020 का महिला टीम टेबल टेनिस स्वर्ण पदक जीता।

बेस्ट-ऑफ़-फाइव के प्रारूप में खेले जाते इस कार्यक्रम को हासिल करने के लिए चीन को न्यूनतम तीन मैच की ही ज़रुरत पड़ी – पहले दो एकल और एकमात्र युगल मैच जीतकर चीन ने ओलंपिक ताज हासिल किया।

चीन की विजेता टीम के सदस्य थे CHEN Meng, SUN Yingsha और WANG Manyu।

CHEN और SUN ने कुछ ही दिन पहले टोक्यो 2020 महिला एकल कार्यक्रम के पूर्ण-चीन फाइनल में एक दुसरे का सामना किया था, जहां CHEN विजयी रही थीं।

जापान के खिलाफ इस टीम फाइनल में पहले युगल मैच में CHEN का साथ WANG ने निभाया – और शुरुआत आसान नहीं रही। जापान के ISHIKAWA Kasumi और HIRANO Miu की जोड़ी ने पहला गेम 11-9 से जीतकर स्वर्ण पदक मुक़ाबले में जापान के लिए सफल पहला कदम लिया। लेकिन चीन की जोड़ी ने दहाड़ते हुए वापसी की, और अगले तीन गेम में कुल 21 ही पॉइंट हारते हुए पहला मैच 3-1 के स्कोर से जीत लिया।

फाइनल के पहले एकल मैच में SUN और ITO Mima की मुलाक़ात हुई। पिछले हफ्ते ITO ने इतिहास रचते हुए MIZUTANI Jun के साथ ओलंपिक इतिहास का पहला मिश्रित युगल खिताब जीता था, जहां स्वर्ण पदक मुक़ाबले में चीन को एक दुर्लभ हार का सामना करना पड़ा था। पर महिला टीम कार्यक्रम के फाइनल में ITO ऐसा नहीं दोहरा सकीं, और SUN ने 3-1 के स्कोर से मैच जीतकर फाइनल में चीन को 2-0 की बढ़त दी।

स्वर्ण पदक मुक़ाबले का अंत ज़्यादा दूर नहीं था, और WANG ने शीघ्रता के साथ तीसरा मैच अपने कब्ज़े में कर लिया: HIRANO के खिलाफ 31 मिनट में आरामदायक 3-0 के स्कोर के साथ WANG ने चीन को फाइनल में अजेय 3-0 बढ़त दे दी। 

जापान तीसरे लगातार ओलंपिक खेल में महिला टीम कार्यक्रम के पोडियम पर खड़े रहे हैं। उन्होंने लंडन 2012 में रजत पदक और रियो 2016 में कांस्य पदक हासिल किया था।