भारतीय बॉक्सर विकास कृष्ण का हुआ कंधे का ऑपरेशन, लगभग 3 महीने रहेंगे रिंग से दूर

विकास कृष्ण को कंधे में चोट के कारण टोक्यो ओलंपिक में पहले राउंड से बाहर होना पड़ा था।

लेखक लक्ष्य शर्मा
फोटो क्रेडिट Buda Mendes

भारत के अनुभवी मुक्केबाज विकास कृष्ण (Vikas Krishan) ने अपने डिस्लोकेट कंधे को ठीक करने के लिए एक सर्जरी करवाई है। इस चोट के कारण वह टोक्यो ओलंपिक से जल्दी बाहर हो गए थे।

टोक्यो ओलंपिक से पहले इटली में तैयारी के दौरान 29 साल के इस मुक्केबाज का कंधा चोटिल हो गया था। टोक्यो में उनके पहले मुकाबले के दौरान उनकी चोट और गंभीर हो गई।

विकास कृष्ण ने अपने विरोधी जापान के सेवोनरेट्स ओकाजावा (Sewonrets Okazawa) के खिलाफ पहले राउंड के मुकाबले से पहले पेन किलर ली थी। लेकिन उनकी चोट इतनी गहरी हो चुकी थी कि वह सिर्फ एक हाथ का ही इस्तेमाल कर पा रहे थे।

इस मुकाबले के दौरान विकास की आंख में भी चोट लग थी और अंत में वह सर्वसम्मत निर्णय से मुकाबला हार गए।

इसके बाद जब टेस्ट हुए तो पता चला कि कई बार के एशियन चैंपियनशिप पदक विजेता का कंधा ‘डिस्लोकेट’ हो गया है और ‘सबस्कैपुलेरिस’ मांसपेशी और ‘लिगामेंट’ भी फट गया है।

साल 2018 में प्रोफेशनल बॉक्सर बनने वाले विकास कृष्ण ने टोक्यो में अपने तीसर ओलंपिक में हिस्सा लिया था और वहां से लौटते ही उन्होंने मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में आर्थोपेडिक सर्जन डॉ. दिनशॉ पारदीवाला (Dinshaw Pardiwala) से परामर्श लिया।

डॉ. पारदीवाला ने पीटीआई से बातचीत के दौरान कहा कि "उन्होंने बहुत हिम्मत दिखा कर फाइट लड़ी लेकिन मुझे लगता है कि टॉप एथलीट ऐसा ही करते हैं, वह दर्द को अपने सपने के बीच नहीं आने देते।"

डॉ. पारदीवाला स्पोर्ट्स इंडस्ट्री में एक जाना-पहचाना नाम हैं, जिन्होंने पीवी सिंधु (PV Sindhu), साइना नेहवाल (Saina Nehwal), सुशील कुमार (Sushil Kumar) जैसे ओलंपिक पदक विजेताओं और क्रिकेटर जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) का इलाज किया है।

साल 2019 में ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) का ऑपरेशन भी डॉ. पादरीवाला ने किया था।

हिसार में जन्मे विकास के कंधे को ठीक होने में लगभग तीन सप्ताह लगेंगे और रिंग में उतरने से पहले उन्हें 3 महीने रिहैब से गुजरना पड़ेगा।

आत्मविश्वास से भरे विकास ने कहा कि, "मेरा मानना ​​है कि मेरे साथ जितना बुरा होना था, वह हो चुका है और अब मैं इससे मजबूती और बेहतर तरीके से बाहर निकलूंगा। मैं हार नहीं मानने वाला हूं।"