बोलट तुर्लिखानोव कप कुश्ती: बजरंग पुनिया ने कांस्य तो अमन सहरावत ने जीता स्वर्ण पदक

टोक्यो ओलंपियन दीपक पूनिया और गौरव बालियान मेडल राउंड में जगह बनाने में असफल रहे। भारत ने इस टूर्नामेंट में छह स्वर्ण पदक जीते, जिसमें पांच स्वर्ण सिर्फ महिलाओं ने जीते हैं।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट Getty Images

कजाकिस्तान के अल्माटी में आयोजित बोलट तुर्लिखानोव कप 2022 कुश्ती टूर्नामेंट के अंतिम दिन टोक्यो 2020 के कांस्य पदक विजेता बजरंग पुनिया ने कांस्य तो अमन सहरावत ने स्वर्ण पदक जीता।

इस तरह भारत ने आखिरी दिन दो और पदक के साथ यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग रैंकिंग सीरीज का कुल 11 पदकों के साथ समापन किया। जिसमें छह स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य पदक शामिल हैं। इसमें पांच स्वर्ण पदक सिर्फ महिलाओं ने जीते हैं।

बजरंग पुनिया को पुरुषों के 65 किग्रा भार वर्ग के पहले राउंड में एशियाई कांस्य पदक विजेता उज्बेकिस्तान के अब्बोस रखमोनोव से 5-3 से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि, अब्बोस रखमोनोव के फाइनल में पहुंचने के साथ ही तीन बार के विश्व चैंपियनशिप के पदक विजेता बजरंग ने कांस्य पदक मैच में जगह बनाई। 

जहां बजरंग पुनिया ने कांस्य पदक मुकाबले में कजाकिस्तान के रिफत सैबोटालोव को 7-0 से हराकर कांस्य पदक हासिल किया।

इस बीच, राष्ट्रीय चैंपियन अमन सहरावत ने 57 किग्रा के शुरुआती राउंड में कजाकिस्तान के मीरांबेक कार्तबाय को 15-12 से हराया। 

वहीं अमन सेहरावत ने तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर किर्गिस्तान के अब्दिमालिक कराचोव को पीछे छोड़ा। उसके बाद उन्हें अगले दो राउंड-रॉबिन मैचों में कजाकिस्तान के झाखोंगिर अखमाजानोव के खिलाफ वॉकओवर मिला। 

हालांकि अमन सहरावत को अपने आखिरी राउंड मुकाबले में थोड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा, लेकिन उन्होंने कजाख पहलवान मेरे बाजारबायेव को 10-9 से हराकर स्वर्ण पदक हासिल किया।

इस बीच टोक्यो ओलंपियन और विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता दीपक पूनिया ने इस इवेंट में 86 किग्रा वर्ग के बजाय 92 किग्रा में हिस्सा लिया।

हालांकि, दीपक पूनिया को राउंड-रॉबिन मैचों में दो बार हार मिली और वह मेडल राउंड में जगह बनाने में असफल रहे। इसी तरह विक्की चहर भी ज्यादा खास प्रदर्शन नहीं कर सके। 

वहीं दूसरी तरफ दो बार के एशियाई पदक विजेता गौरव बालियान को 79 किग्रा भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान के दौलत एर्गेश से हार मिली। 

विशाल कालीरामना (70 किग्रा) और नवीन (74 किग्रा) अपने-अपने क्वार्टर फाइनल मैच हारने के बावजूद मेडल मैच में जगह बनाने में सफल रहे, लेकिन दोनों ही कांस्य पदक जीतने में असफल रहे। 

टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता रवि कुमार दहिया ने मीट को छोड़ने का विकल्प चुना था।

बोलट तुर्लिखानोव कप कुश्ती 2022 भारतीय पदक विजेता

महिला

मानसी अहलावत (57 किग्रा) - गोल्ड

सरिता मोर (59 किग्रा) - गोल्ड

साक्षी मलिक (62 किग्रा) - गोल्ड

मनीषा (65 किग्रा) - गोल्ड

दिव्या काकरान (68 किग्रा) - गोल्ड

बिपाशा (72 किग्रा) - सिल्वर

पूजा सिहाग (76 किग्रा) - कांस्य

सुषमा शौकीन (55 किग्रा) - कांस्य

पुरुषों की फ्रीस्टाइल

अमन सहरावत (57 किग्रा) - गोल्ड

बजरंग पुनिया (65 किग्रा) - कांस्य

ग्रीको रोमन

अर्जुन हलकुर्की (55 किग्रा) - कांस्य

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स