डेनमार्क मास्टर्स बैडमिंटन: अश्विनी पोनप्पा और सिक्की रेड्डी को फाइनल में मिली हार

अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी महिला युगल फाइनल में स्थानीय पसंदीदा फ्रेजा रेवन और अमाली मैगलुंड से 15-21, 21-19, 21-14 से हार का सामना करना पड़ा।

लेखक सतीश त्रिपाठी

अश्विनी पोनप्प (Ashwini Ponnappa) और एन सिक्की रेड्डी (N Sikki Reddy) की भारतीय महिला युगल जोड़ी को डेनमार्क मास्टर्स फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। रविवार को हुए मैच में एस्बर्ज (Esbjerg) में शीर्ष वरीयता प्राप्त फ्रेजा रेवन (Freja Ravn) और अमाली मैगलुंड (Amalie Magelund) की जोड़ी ने 15-21, 21-19, 21-14 से भारतीय जोड़ी को शिकस्त दे दी।

59 मिनट के इस मुकाबले में भारतीय जोड़ी को स्थानीय पसंदीदा खिलाड़ियों से हार झेलनी पड़ी।

कॉमनवेल्थ गेम्स की चैम्पियन अश्विनी ने भी मिक्स्ड डबल्स मेंध्रुव रावत (Dhruv Rawat) के साथ जोड़ी बनाई, लेकिन क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क की निकलास नोहर (Niclas Nohr) और अमाली मैगलुंड (Amalie Magelund) की जोड़ी 21-14, 21-16 से हार का सामना करना पड़ा।

वहीं, गुरुवार से शुरू हुए इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए 24 सदस्यीय भारतीय बैडमिंटन दल को शामिल किया गया है। 

शीर्ष वरीयता प्राप्तलक्ष्य सेन (Lakshya Sen) को सेमीफाइनल में कनाडा के तीसरे वरीयता प्राप्त और अंतिम चैंपियन ब्रायन यांग (Brian Yang) से 13-21, 21-14, 21-18 से हार का सामना करना पड़ा। बता दें कि युवा ओलंपिक खेलों में रजत पदक विजेता 19 वर्षीय लक्ष्य ने इससे पहले हमवतन किरण जॉर्ज को राउंड ऑफ 16 के मुकाबले में मात दी थी।

अजय जयराम(Ajay Jayaram) और सिद्धार्थ प्रताप सिंह (Siddharth Pratap Singh) दोनों अपने राउंड ऑफ 32 मुकाबले में हार गए। इस बीच, चिराग सेन (Chirag Sen) और शुभंकर डे  (Subhankar Dey) क्वार्टर फाइनल में ही जगह बना सके।

मेंस सिंगल्स मेंवरुण कपूर (Varun Kapur), शंकर मुथुसामी सुब्रमण्यम (Sankar Muthusamy Subramanian) और केविन वाल्टर (Kevin Walter) और वूमेंस सिंगल्स में सामिया इमाद फारूकी (Samiya Imad Farooqui) क्वालीफायर से आगे नहीं बढ़ सके। शिवम शर्मा (Shivam Sharma) और पूर्विशा राम (Poorvisha Ram) की जोड़ी भी मिक्स्ड डबल्स क्वालीफिकेशन राउंड में बाहर हो गई थी।

वूमेंस सिंगल्स मेंश्री कृष्ण प्रिया कुदरवल्ली (Sri Krishna Priya Kudaravalli) और आकर्षी कश्यप (Aakarshi Kashyap) दोनों अपने-अपने मैचों में सेमीफाइनल में हार गईं। वहीं, कृति भारद्वाज (Kriti Bharadwaj) और तान्या हेमंत (Tanya Hemanth), जो प्रत्येक क्वालीफायर के तीन राउंड के माध्यम से आए थे, उन्हें शुरुआती राउंड में ही हार का सामना करना पड़ा।

वहीं,कृष्ण प्रसाद गरगा (Krishna Prasad Garaga) और विष्णु वर्धन गौड़ पंजाला (Vishnu Vardhan Goud Panjala) की जोड़ी भी सेमीफाइनल में हार गई। उत्कर्ष अरोड़ा (Utkarsh Arora) और सौरभ शर्मा (Saurabh Sharma) और कोना तरुण/शिवम शर्मा की जोड़ी पहले राउंड में ही बाहर हो गई थी।