BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022: चिराग-सात्विक ने पुरुष युगल में जीता ऐतिहासिक कांस्य पदक

भारतीय जोड़ी को सेमीफाइनल में टोक्यो 2020 की आरोन चिया और सोह वूई यिक की जोड़ी से हार का सामना करना पड़ा। एक पदक के साथ बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत का अभियान समाप्त हो गया।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट Badmintonphoto | Courtesy of BWF

चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की भारतीय पुरुष युगल जोड़ी ने शनिवार को जापान के टोक्यो में मलेशिया के आरोन चिया और सोह वूई यिक की जोड़ी के खिलाफ बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022 के सेमीफाइनल में हारकर कांस्य पदक जीता।

यह भारत का 13वां विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप पदक था लेकिन पुरुष युगल में पहला पदक था। इसी के साथ बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत का अभियान भी समाप्त हो गया।

टोक्यो मेट्रोपॉलिटन जिमनैजियम में हुए इस मुकाबले में बैडमिंटन वर्ल्ड रैंकिंग में सातवें स्थान पर काबिज चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने पहला गेम जीत लिया, लेकिन हारून चिया और सोह वूई यिक की वर्ल्ड रैंकिंग में छठे नंबर की जोड़ी ने शानदार वापसी करते हुए इसे 22-20, 18-21, 16-21 से अपने नाम कर लिया।

भारतीय जोड़ी ने जबरदस्त शुरुआत की और पहले ब्रेक तक पांच अंकों की बढ़त ले ली। हालांकि, जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ा वैसे-वैसे मलेशियाई जोड़ी का खेल बेहतर होता गया।

आरोन चिया और सोह वूई यिक का डिफेंस शानदार रहा और गेम को 16 अंकों पर लाकर बराबर कर दिया। इसके बाद नेट पर बेहतर खेल के साथ चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने अच्छी वापसी की और पहला गेम जीत लिया।

दूसरे गेम में दोनों ही जोड़ियों को ब्रेस से पहले लय हासिल करने के लिए संघर्ष करते हुए देखा गया। आरोन चिया और सोह वूई यिक ने ब्रेक के बाद लगातार चार अंकों के साथ बढ़त हासिल कर ली और फिर मैच को निर्णायक अंत तक खींचने में सफल रहे।

तीसरे गेम में भी दोनों जोड़ियों ने लंबी-लंबी रैलियां खेलीं। 16-15 से पीछे चल रही चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की जोड़ी अगले छह अंकों में से पांच अंक गंवाकर 77 मिनट तक चले इस सेमीफाइनल मुकाबले में हार मिली।

आरोन चिया और सोह वूई यिक के खिलाफ हुए अभी तक के मैचों में भारतीय जोड़ी की यह छठी हार थी। शेट्टी और रंकीरेड्डी इस महीने की शुरुआत में राष्ट्रमंडल खेलों में मिश्रित टीम बैडमिंटन फाइनल में भी मलेशियाई खिलाड़ियों से हार गए थे।

इससे पहले बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप में चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने क्वार्टर-फाइनल में मौजूदा विश्व चैंपियन ताकुरो होकी और यूगो कोबायाशी की जोड़ी को हराया।

पुरुष एकल में एचएस प्रणॉय, लक्ष्य सेन और किदांबी श्रीकांत पदक जीतने से चूक गए। पीवी सिंधु की गैरमौजूदगी में महिला एकल में भारत की सबसे अच्छी उम्मीद साइना नेहवाल भी राउंड ऑफ-16 से आगे नहीं बढ़ सकीं।

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी अगले सप्ताह ओसाका में शुरू होने वाले जापान ओपन बीडब्ल्यूएफ सुपर 750 इवेंट में एक्शन में नजर आएंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स