BWF वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप 2022: चिराग-सात्विक ने वर्ल्ड चैंपियन जोड़ी को हराकर भारत के लिए ऐतिहासिक पदक किया पक्का

चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने सेमीफाइनल में जगह बनाने के बाद भारत के लिए वर्ल्ड चैंपियनशिप के पुरुष युगल स्पर्धा में पहला पदक पक्का कर दिया है।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट Badmintonphoto | Courtesy of BWF

चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की भारतीय बैडमिंटन जोड़ी शुक्रवार को जापान के टोक्यो मेट्रोपॉलिटन जिमनैजियम में जारी BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022 के सेमीफाइनल में पहुंच गई है। इसके साथ ही यह जोड़ी पुरुष युगल में BWF विश्व चैंपियनशिप पदक जीतने वाली पहली भारतीय जोड़ी बन जाएगी। 

वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत ने अब तक 12 पदक जीते हैं। इसमें से सिर्फ एक ही पदक युगल स्पर्धा में आया है। यह पदक ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की महिला युगल जोड़ी ने चैंपियनशिप के साल 2011 के संस्करण में हासिल किया था। महिला युगल जोड़ी ने कांस्य पदक जीता था।

शुक्रवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल मुकाबले में सातवीं वरीयता प्राप्त चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की भारतीय जोड़ी ने मौजूदा विश्व चैंपियन ताकुरो होकी और यूगो कोबायाशी को हराकर चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

चिराग-सात्विक की जोड़ी ने इंडोनेशियाई जोड़ी को 1 घंटे 15 मिनट तक चले रोमांचक मुकाबले में 24-22, 15-21, 21-14 से शिकस्त देकर पुरुष युगल स्पर्धा में भारत के लिए पहले पदक की उम्मीद को पुख्ता कर दिया। वर्ल्ड चैंपियनशिप के पुरुष युगल स्पर्धा में पदक जीतने वाली यह पहली भारतीय पुरुष जोड़ी होगी।

राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता चिराग-सात्विक चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने के लिए सेमीफाइनल में मलेशिया के छठी वरीयता प्राप्त आरोन चिया और सोह वूई यिक से भिड़ेंगे। 

वहीं, एकल स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में एचएस प्रणॉय हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गए हैं। प्रणॉय को चीनी शटलर जुन पेंग हाओ के खिलाफ 21-19, 6-21, 18-21 से हार झेलनी पड़ी। 

प्रणॉय ने पिछले राउंड में पूर्व विश्व चैंपियन केंटो मोमोटा और राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन हमवतन लक्ष्य सेन को हराया था। 

उन्होंने पहला गेम जीतने के लिए कड़ा संघर्ष किया और दूसरे में कई अंक गंवाने के बाद उन्हें हार का सामना करना पड़ा। तीसरे गेम में भी प्रणॉय अपनी लय में नहीं दिखे और हारकर मैच गंवा दिया।

एचएस प्रणॉय ने चीन के शटलर जुन पेंग हाओ के खिलाफ कांटे की टक्कर वाले पहले गेम में 21-19 के करीबी अंतर से जीत दर्ज कर 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। हालांकि, दूसरे गेम में उन्हें चीनी शटलर के खिलाफ 21-6 के बड़े अंतर से हार झेलनी पड़ी। 

तीसरे और निर्णायक गेम में प्रणॉय ने अपने प्रतिद्वंदी को कड़ी टक्कर दी और ब्रेक से पहले तक भारतीय शटलर 11-10 की मामूली बढ़त के साथ लीड कर रहे थे। हालांकि, इसके बाद चीन के खिलाड़ी ने गेम पर अपना नियंत्रण बनाते हुए 21-18 से जीत दर्ज की और मैच भी अपने नाम किया। 

इसके अलावा एक अन्य मुकाबले में, गुरुवार को वर्ल्ड चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचने वाली एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की भारतीय पुरुष जोड़ी सेमीफाइनल में जगह बना पाने में नाकाम रही। 

पुरुष युगल स्पर्धा में एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की भारतीय जोड़ी को इंडोनेशिया के मोहम्मद अहसान और हेंड्रा सेतियावान के खिलाफ 29 मिनट तक चले मुकाबले में 21-8, 21-14 से हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही बैडमिंटन के वर्ल्ड चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय जोड़ी की चुनौती खत्म हो गई है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स