BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022: साइना नेहवाल ने दूसरे दौर में बिना खेले ही प्री-क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

नोजोमी ओकुहारा के चोटिल होने की वजह से वर्ल्ड चैंपियनशिप से बाहर होने के बाद साइना को दूसरे दौर में बाई मिला है। अब तीसरे राउंड से पहले उन्हें एक दिन का आराम मिलेगा।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट Badmintonphoto | Courtesy of BWF

जापान के टोक्यो मेट्रोपॉलिटन जिमनैजियम में चल रहे BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप 2022 बैडमिंटन टूर्नामेंट में मंगलवार को भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने वूमेंस सिंगल्स के राउंड ऑफ 64 में हांग-कांग की चेउंग नान यी को हराकर दूसरे राउंड में प्रवेश किया। हालांकि दूसरे राउंड की उनकी प्रतिद्वंद्वी नोजोमी ओकूहारा के चोट की वजह से इस टूर्नामेंट से अपना नाम वापस लेने के बाद उन्हें दूसरे राउंड में बाई मिल गया है। अब तीसरे राउंड में मुकाबला करने से पहले उन्हें एक दिन का आराम मिलेगा।

साइना ने राउंड ऑफ-64 के मुकाबले में 38 मिनट में चेउंग नान यी को सीधे गेम में 21-19, 21-19 से हराकर अपने अभियान की शानदार शुरुआत की।

राउंड ऑफ-32 में बिना खेले ही मिली जीत

साइना नेहवाल का राउंड ऑफ-32 में जापान की खिलाड़ी नोजोमी ओकुहारा से सामना होना था लेकिन उन्होंने बीडब्ल्यूएफ से अपना नाम वापस ले लिया। इस तरह से साइना ने बिना खेले ही प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।

त्रिशा जॉली और गायत्री गोपीचंद ने अगले राउंड में किया प्रवेश

इस बीच, महिला युगल मुकाबले में त्रिशा जॉली और गायत्री गोपीचंद की जोड़ी ने लो येन युआन-वलेरी सिओ को सीधे गेम में 21-11, 21-13 से हराकर दूसरे राउंड में प्रवेश किया। मलेशियाई जोड़ी भारत की त्रिशा और गायत्री की जोड़ी के सामने बिल्कुल भी नहीं टिक सकी।

त्रिशा-गायत्री दूसरे राउंड में कॉमनवेल्थ गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता जोड़ी थिनाह मुरलीधरन और पर्ली टैन से भिड़ेंगी। भारतीय जोड़ी का थिनाह और पर्ली के सामने टिक पाना आसान नहीं होगा। मलेशियाई जोड़ी ने इस महीने की शुरुआत में बर्मिंघम में भारतीय खिलाड़ियों को दो बार हराया था।

महिला युगल एक अन्य मुकाबले में विश्व नंबर 53 अश्विनी भट्ट और शिखा गौतम की जोड़ी ने भी दूसरे राउंड में जगह बना ली है। उन्होंने मार्टिना कोर्सिनी-जुदिथ मैयर को महज 30 मिनट में सीधे गेम में 21-8, 21-14 से हराया। दूसरे दौर में उनका सामना दक्षिण कोरिया की वर्ल्ड नंबर 4 जोड़ी किम से ये योंग-कोंग ही योंग से होगा।

अन्य मुकाबलों के परिणाम

पुरुष युगल के मुकाबले में कृष्णा प्रसाद और विष्णुवर्धन गौड़ को फ्रांस के फैबियन डेलरू और विलियम विलेगर से 21-14, 21-18 से हार का सामना करना पड़ा।

मिश्रित युगल के मुकाबले में ईशान भटनागर और तनीषा क्रैस्टो की जोड़ी को थाईलैंड की 14वीं वरीयता प्राप्त सुपक जोमकोह और सुपिसारा पावसंप्रान की जोड़ी से 21-14, 21-17 से हार का सामना करना पड़ा।

मिश्रित युगल के एक अन्य मुकाबले में वेंकट गौरव प्रसाद और जूही देवांगन की जोड़ी को डेनमार्क के ग्रेगरी मायर्स और जेनी मूर की जोड़ी से 21-10, 23-21 से हार मिली।

बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में इस बार पीवी सिंधु शिरकत नहीं कर रही हैं। उन्होंने चोट की वजह से अपना नाम वापस ले लिया था। ऐसे में उनकी गैर मौजूदगी में साइना नेहवाल, किदांबी श्रीकांत और लक्ष्य सेन जैसे उभरते हुए खिलाड़ियों से भारत को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स