FC नसाफ से हारने के बाद एएफसी कप से बाहर हुआ एटीके मोहन बागान

युवा खिलाड़ी खुसायन नोरचायेव ने लगाई गोल की हैट्रिक, वहीं एफसी नसाफ ने एटीके मोहन बागान के खिलाफ कुल छह गोल किए।

लेखक लक्ष्य शर्मा
फोटो क्रेडिट AFC Media

एटीके मोहन बागान (ATK Mohun Bagan) बुधवार को उज्बेकिस्तान के कार्शी के मरकजी स्टेडियम में इंटर-जोनल सेमीफाइनल में एफसी नसाफ क़ार्शी (FC Nasaf Qarshi) से हारने के बाद एएफसी कप 2021 से बाहर हो गया।

इस मैच में मेरिनर्स पूरी तरह से हावी रहे और उन्होंने भारतीय क्लब के खिलाफ छह गोल किए। मेजबान टीम के लिए स्ट्राइकर खुसायन नोरचायेव (Khusayin Norchayev) ने गोल की हैट्रिक बनाई।

इस हार के साथ, एएफसी कप में भारत की चुनौती समाप्त हो गई क्योंकि बेंगलुरू एफसी भी पिछले राउंड में बाहर हो गया था।

इंटर-ज़ोन प्ले-ऑफ फाइनल में जगह बनाने के मकसद से मैदान में उतरी एटीके मोहन बागान शुरुआत से ही बैकफुट पर दिखी।

भारतीय खिलाड़ी प्रीतम कोटल (Pritam Kotal) ने मैच के 5वें मिनट में  दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से सेल्फ गोल कर लिया, जिसकी बदौलत नसाफ ने 1-0 की बढ़त बना ली।

भले ही भारत ने पहला सेल्फ गोल किया लेकिन मैच के बाकी समय में भी पूरी टीम दबाव में दिखी और नसाफ उनसे हर मामले में बेहतर साबित हुई।

19 साल के स्ट्राइकर खुसायिन नोरचायेव के नेतृत्व में नसाफ के तेज हमलों ने ATKMB के डिफेंस की पोल खोल दी।

18वें मिनट में नोरचायेव ने एक बार फिर अपना कमाल दिखाया और इस युवा खिलाड़ी ने नसाफ की बढ़त को दोगुना कर दिया।

एटीकेएमबी के खिलाफ ये तो नोरचायेव की शुरुआत भर थी।

दूसरे गोल के ठीक तीन मिनट बाद, नोरचायेव और नसरुल्लायेव के शानदार तालमेल केे सामने इंडियन सुपर लीग की टीम एटीके मोहन बागान बिल्कुल असहाय नजर आ रहा था। मैच में यह नसाफ का तीसरा  और नोरचायेव का दूसरा गोल था।

अपने घरेलू स्टेडियम में एक हजारों दर्शकों के सामने नसाफ ने शानदार खेल दिखाया और उन्होंने इस लय को पूरे मैच में बरकरार रखा।

नोरचायेव ने 31वें मिनट में हैट्रिक पूरी की और मैच का स्कोर को 4-0 तक ले गए। ओयबेक बोज़ोरोव के पहले हाफ के अंत में पेनल्टी चूकने के बाद एटीके मोहन बागान को कुछ राहत मिली, लेकिन ये खुशी भी ज्यादा देर की नहीं थी।

बोज़ोरोव ने जल्द ही एंटोनियो हाबास (Antonio Habas) की टीम के खिलाफ मैच का स्कोर 5-0 कर दिया।

पहले हाफ के बाद मेजबान टीम काफी मजबूत स्थिति में थी।

दूसरे हाफ में मैच थोड़ा धीमा जरूर हुआ लेकिन उज्बेक क्लब ने गेंद की ज्यादातर पोजिशन अपने पास ही रखी और भारतीय क्लब दूसरे हाफ में भी कुछ कमाल करने में फेल रहा।

पहले हाफ की तरह दूसरे हाफ में नसाफ को काफी मौके मिले और 71वें मिनट में डोनियर नारजुलाएव (Donier Narzullaev) ने अपनी टीम की तरफ से छठा गोल किया।

इस मैच में नसाफ का दबदबा रहा ये तो साफ है लेकिन भारतीय क्लब को भी 73वें मिनट में गोल करने का मौका मिला लेकिन वह उसे भुनाने में असफल रहे।

सब्सीट्यूट खिलाड़ी लिस्टन कोलाको (Liston Colaco) ने मैच खत्म होने से कुछ मौके बनाए लेकिन वह उन्हें गोल में बदलने में असफल रहे। इसी के साथ मेजबान टीम ने यह मैच 6-0 से समाप्त किया।

नसाफ अब इंटर जोनल फाइनल में हांगकांग के क्लब ली मैन से भिड़ेगा।