एशियन रोइंग चैंपियनशिप में भारत ने छह पदक किए अपने नाम, अरविंद ने जीता गोल्ड

थाईलैंड में आयोजित इस कॉन्टिनेन्टल मीट में भारत ने दो गोल्ड और चार सिल्वर मेडल जीते हैं। भारत की ओवर ऑल मेडल की टैली छह है जो कि पिछले मुकबले से एक ज्यादा है।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट Sports Authority of India / Twitter

भारतीय रोवर अरविंद सिंह ने रविवार को थाईलैंड में आयोजित एशियन रोइंग चैंपियनशिप 2021 के अंतिम दिन मेंस लाइटवेट सिंगल स्कल्स इवेंट में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

अरविंद ने रायोंग के रॉयल थाई नेवी रोविंग सेन्टर में आयोजित इस प्रतियोगिता में 7.55.942 के समय के साथ अपने रेस को खत्म किया जो की उनके करीबी प्रतिद्वंदी उज्बेकिस्तान के सोबिरजोन साफारोलीयेव के 7.58.397 समय से आगे था। वहीं, चीन के वीचुन चेन ने 8.10.043 के समय के साथ ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।

टोक्यो ओलंपियन का एशियन चैंपियनशिप में यह लागातार दूसरा मेडल है। अरविंद ने इससे पहले हुए कॉन्टिनेन्टल मीट में मेंस लाइटवेट डबल स्कल्स इवेंट में सिल्वर मेडल जीता था।

भारतीय रोवर्स ने रविवार को तीन और सिल्वर मेडल अपने नाम किया और इस कॉन्टिनेन्टल चैंपियनशिप में दो गोल्ड और चार सिल्वर मेडल सहित कुल छह मेडल जीते हैं।

2019 में आयोजित एशियन रोइंग चैंपियनशिप में भारत ने कुल पांच मेडल जीते थे जिसमे एक गोल्ड, दो सिल्वर और दो ब्रॉन्ज मेडल शामिल थे।

आशीष फुगाट और सुखजिंदर सिंह की जोड़ी ने मेंस लाइटवेट डबल स्कल्स में 7:12.568 के समय के साथ सिल्वर मेडल जीता। वे किंग ली और वीचुन चेन की चीनी जोड़ी से 3.401 सेकेंड पीछे थे। थाईलैंड के सिवाकोर्न वोंगपिन और नवामिन दीनोई की जोड़ी ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।

इस बीच, क्वाड्रपल स्कल्स में बिट्टू सिंह, जकार खान, मंजीत कुमार और सुखमीत सिंह की चौकड़ी ने 6.33.083 के समय के साथ सिल्वर मेडल जीता। उन्होंने एक फोटो-फिनिश में उज्बेकिस्तान के रोवर्स से 0.523 सेकेंड से गोल्ड मेडल गंवा दिया।

मेंस कॉक्सलेस फोर्स में जसवीर सिंह, पुनीत कुमार, गुरमीत सिंह और चरणजीत सिंह की टीम ने 6:51.661 के समय के साथ सिल्वर मेडल अपने नाम किया।

भारतीय महिला रोवर्स को एशियाई चैंपियनशिप से खाली हाथ वापस लौटना पड़ा।

खुशप्रीत कौर, नवनीत कौर, मृण्मयी सलगांवकर और अविनाश कौर ने क्वाड्रपल स्कल्स के फाइनल में प्रतिस्पर्धा करते हुए हीट्स में दूसरे स्थान पर रहने के बाद फाइनल में पांचवां स्थान हासिल किया। लाइटवेट डबल स्कल्स में रुक्मणी और रेशमा कुमारी मिंज की जोड़ी भी पांचवें स्थान पर रही।

शनिवार को अरविंद सिंह के टोक्यो ओलंपिक के साथी अर्जुन लाल जाट और रवि की जोड़ी ने मेंस की डबल स्कल्स इवेंट में गोल्ड मेडल जीता था।

अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू कर रहे परमिंदर सिंह ने मेंस सिंगल स्कल्स में रजत पदक जीता था।

भारत ने थाईलैंड मीट के लिए छह अलग-अलग श्रेणियों में भाग लेने के लिए 16 रोवर भेजे थे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स