हॉकी एशिया कप 2022: सुपर 4 के अपने पहले मुकाबले में भारत ने जापान को 2-1 से हराया

भारतीय टीम की ओर से मंजीत और पवन राजभर ने एक-एक गोल किए, जबकि जापान की ओर से इकलौता गोल निवा ताकुमा ने किया।

लेखक विवेक कुमार सिंह
फोटो क्रेडिट Hockey India

इंडोनेशिया के जकार्ता में खेले जा रहे पुरुष हॉकी एशिया कप 2022 में शनिवार को खेले गए सुपर 4 के मुकाबले में मौजूदा चैंपियन भारत ने जापान को 2-1 से हरा दिया। भारत की ओर से मंजीत और पवन राजभर ने एक-एक गोल किया।

मुकाबले की शुरुआत से ही जापान ने आक्रामक रुख अपनाया और दूसरे मिनट में ही एक शानदार मौका बनाया लेकिन भारतीय डिफेंस ने गोल नहीं होने दिया। इसके बाद जापान ने लगातार भारतीय डिफेंस लाइन पर दबाव बनाए रखा।

मैच के 7वें मिनट में मंजीत शानदार ड्रिबल करते हुए गेंद को सर्कल में ले गए और बिना किसी गलती के जापानी गोलकीपर को छकाते हुए भारतीय टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी।

इसके बाद भारतीय टीम फुल प्रेस के साथ खेलने लगी, तो वहीं जापानी टीम वापसी के लिए मौका तलाशती नजर आई। हालांकि भारतीय टीम को इसका फायदा मिला और 12वें मिनट में मनिंदर सिंह ने टीम के लिए पहला पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया।

जापानी डिफेंस ने शानदार बचाव किया और गोल की संभावनाओं को खत्म किया। इसके तुरंत बाद जापानी टीम ने आक्रमण किया लेकिन भारतीय डिफेंस ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया और इसके साथ ही पहला क्वार्टर खत्म हुआ।

एक गोल की बढ़त के साथ दूसरे हाफ की शुरुआत करने वाली युवा भारतीय टीम ने पहले ही मिनट में कॉर्नर हासिल किया और जापान की टीम पर दबाव बनाने की कोशिश की।

मैच के 17वें मिनट में जापान ने पेनल्टी कॉर्नर हासिल जीता। पहली कोशिश को गोलकीपर सूरज करकेरा ने शानदार बचाव नाकाम कर दिया लेकिन रिबाउंड में गोल कर जापान ने बराबरी हासिल कर ली।

इसके बाद जापान ने लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन दोनों मौके पर भारतीय डिफेंस ने अपनी गोल पोस्ट को बचाए रखा। 22वें मिनट में एसवी सुनील ने अकेले गेंद को डी तक पहुंचाया और गोल पर निशाना साधा लेकिन इस बार जापानी गोलकीपर तैयार थे और उन्होंने गेंद को रोक लिया।

मैच के 27वें मिनट में मनिंदर सिंह को ग्रीन कार्ड दिखाया गया और उन्हें 2 मिनट के लिए मैदान से बाहर होना पड़ा। दूसरे क्वार्टर के आखिरी तीन मिनट में 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने के बावजूद भारतीय टीम को कोई नुकसान नहीं हुआ और दूसरा क्वार्टर 1-1 की बराबरी के साथ खत्म हुआ।

दूसरे हाफ में भारतीय टीम ने शानदार आगाज किया और पहले ही मिनट में शानदार मौका बनाया लेकिन भारतीय टीम इस मौके को गोल में तब्दील करने में नाकामयाब रही। 34वें मिनट में उत्तम सिंह ने फिर से गेंद को डी के अंदर पहुंचाया और पवन राजभर को पास किया।

पवन ने कोई गलती नहीं की और गोल कर टीम को 2-1 से आगे कर दिया। इसके बाद 40वें मिनट में पवन ने जापानी खिलाड़ी को टैकल किया और रेफरी ने जापान को पेनल्टी कॉर्नर दे दिया।

भारतीय डिफेंस ने इस बार भी शानदार बचाव किया और गोल की संभावनाओं को खारिज किया। तीसरे क्वार्टर के आखिरी मिनट में मंजित और सुनील ने शानदार मौका बनाया लेकिन गोल नहीं हो सका।

चौथे और अंतिम क्वार्टर में जापानी टीम ने शानदार शुरुआत की। 47वें मिनट में कार्थी सेल्वम को चोट की वजह से मैदान से बाहर जाना पड़ा। जापानी टीम के आक्रामक रवैये ने मंजीत को भी मैदान से बाहर का रास्ता दिखाया।

57वें मिनट में जापान के पेनल्टी कॉर्नर को रोककर भारतीय टीम ने अपनी जीत लगभग सुनिश्चित कर ली। आखिरी मिनट में जापान ने पूरी कोशिश की लेकिन अपनी हार को नहीं बदल सकी और भारत ने मुकाबला 2-1 से अपने नाम कर लिया।

इस जीत के साथ भारतीय टीम सुपर 4 की अंक तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गई है जबकि जापान आखिरी स्थान पर है। इससे पहले दक्षिण कोरिया और मलेशिया के बीच खेला गया मुकाबला 2-2 से ड्रॉ रहा था।

भारतीय टीम अपना अगला मुकाबला रविवार, 29 मई को मलेशिया के खिलाफ खेलेगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स