2021 महिला जूनियर हॉकी विश्व कप: भारत टीम में टोक्यो ओलंपियन कौन हैं?

जूनियर विश्व कप के लिए भारत की 18 सदस्यीय टीम की तीन खिलाड़ियों ने टोक्यो 2020 में लिया था हिस्सा

लेखक भारत शर्मा
फोटो क्रेडिट WORLDSPORTPICS.COM/FFU

भारतीय महिला हॉकी टीम टोक्यो 2020 में एक मजबूत प्रदर्शन को भुनाने के साथ 2021 महिला जूनियर हॉकी विश्व कप में पदक जीतने की उम्मीद कर रही है। यह विश्व कप 5 दिसंबर से दक्षिण अफ्रीका के पॉचेफस्ट्रूम में शुरू होगा।

टूर्नामेंट के लिए भारत की 18 सदस्यीय टीम के तीन सदस्यों ने टोक्यो 2020 में हिस्सा लिया था। ऐसे में इस विश्व कप में उनका अनुभव महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

भारत को पूल C में अर्जेंटीना, जापान और रूस के साथ रखा गया है और वह 6 दिसंबर को रूस के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा। आइए हम तीन भारतीय ओलंपियनों पर डालते हैं एक नजर:

अर्जेंटीना B के खिलाफ स्कोर करने के बाद मनाती हुई सलीमा टेटे। फोटो साभार: हॉकी इंडिया
फोटो क्रेडिट WSP - correo.jaramillo@gmail.com

लालरेमसियामी

प्रमुख भारतीय फॉरवर्ड 2021 महिला जूनियर हॉकी विश्व कप में भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगी।

उन्होंने 2017 एशिया कप में राष्ट्रीय टीम के लिए पदार्पण किया जहां भारत ने स्वर्ण पदक जीता। तब से 21 वर्षीय ने भारत के लिए 72 कैप अर्जित किए और 23 बार नेट पाया। गोल के सामने उनकी मौजूदगी जूनियर हॉकी विश्व कप के दौरान टीम के लिए अहम होगी।

लालरेमसियामी वर्तमान राष्ट्रीय टीम की कप्तान रानी रामपाल को आदर्श मानती हैं और उन्हें अपने नेतृत्व कौशल की उम्मीद है।

वह टोक्यो 2020 में ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली मिजोरम की पहली महिला एथलीट बनीं।

सलीमा टेटे

जूनियर हॉकी विश्व कप में टीम के लिए प्रमुख भारतीय मिडफील्डर की तेज चाल और शानदार दौड़ महत्वपूर्ण होगी। टेटे 2018 युवा ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम के कप्तान थी।

उसकी गति भी टोक्यो 2020 में राष्ट्रीय टीम के लिए एक फायदा साबित हुई क्योंकि इससे उन्हें पेनल्टी कार्नर में मदद मिली। झारखंड की एथलीट ने 2017 में पदार्पण करने के बाद से राष्ट्रीय टीम के लिए 37 कैप अर्जित किए हैं।

शर्मिला देवी

देवी ने 2019 में अपनी राष्ट्रीय टीम में पदार्पण किया और टीम के लिए 19 कैप अर्जित किए।

उसके पास आक्रमण करने की क्षमता है और वह विरोधियों के खिलाफ गोल करने की क्षमता रखती है। उन्होंने 2019 के बाद से राष्ट्रीय टीम के लिए दो बार नेट किया है।

टोक्यो 2020 में, उनका एकमात्र गोल ग्रुप स्टेज मैच में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ भारत की 1-4 से हार में आया था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स