100 दिन शेष: वह खिलाड़ी जिन्होंने ओलंपिक खेलों में बनाया 100 प्रतिशत 

शत प्रतिशत स्वर्ण पदक से लेकर शत प्रतिशत विजय रिकॉर्ड और शत प्रतिशत उच्च स्कोर तक, Olympics.com आपको बताएगा सात ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने शीतकालीन ओलंपिक खेलों शत प्रतिशत रिकॉर्ड स्थापित किया है। 

लेखक Sean McAlister

Caroline Ouellette ने जीते अपने 100 प्रतिशत मैच

अगर आप ऐसे खिलाड़ियों की सूची बनाते हैं जिन्होंने शीतकालीन ओलंपिक खेलों में शत प्रतिशत स्कोर हासिल किया है, आप Caroline Ouellette को नहीं छोड़ सकते।

यह खिलाड़ी कनाडा की उस आइस हॉकी टीम की सदस्य रह चुकी हैं जिसने चार लगातार ओलंपिक स्वर्ण (साल्ट लेक सिटी 2002, ट्यूरिन 2006, वैंकूवर 2010, सोची 2014) जीते हैं और Ouellete अपने जीवन में एक ओलंपिक मुकाबला नहीं हारी हैं।

यह बहुत बड़ी है।

चार ओलंपिक खेलों में आयोजित हुए ग्रुप स्टेज मुकाबले, चार सेमिफाइनल और चार फाइनल, सारे Ouellette की टीम ने जीते। सोची 2014 ओलंपिक खेलों के बाद वह पहली खिलाड़ी बनी जिन्होंने चार ओलंपिक प्रतियोगिताओं में भाग लिया और चारों में स्वर्ण जीता।

इस खिलाड़ी ने सोची 2014 खेलों के बाद सन्यास ले लिया और वह अपने देश के इतिहास तीसरी सबसे ज़्यादा अंक बनाने वाली खिलाड़ी हैं।

अपने शब्दों में

"कनाडा के लिए खेलना मेरे लिए बहुत बड़ा सौभाग्य है और मुझे हर पल याद रहेगा। कनाडा टीम के साथ खेले हुए हर एक पल ने मुझे टीमवर्क का महत्त्व, हमेशा सुधरने की चाह और कठिन परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करने की सीख दिलाई।" - हॉकी कनाडा

Caroline Oulette
फोटो क्रेडिट 2010 Getty Images

साल 1980 में Eric Heiden ने जीते शत प्रतिशत स्पीड स्केटिंग स्वर्ण

अगर आप शीतकालीन खेल इतिहास के सबसे बेहतरीन और अद्भुत प्रदर्शन को खोज रहे हैं, Eric Heiden से आगे बढ़ने की ज़रुरत आपको नहीं है। एक प्रतियोगिता में स्वर्ण जीतने से उनको संतुष्टि नहीं मिली तो अमेरिका के इस खिलाड़ी ने पांच अलग स्पीड स्केटिंग दूरियों में जीत हासिल करते हुए सबको चौंका दिया।

विस्कॉन्सिन के रहने वाले इस खिलाड़ी ने न केवल बार बार स्वर्ण जीता, उन्होंने हर प्रतियोगिता में नया ओलंपिक रिकॉर्ड भी स्थापित किया। जब वह 1500 मीटर के फाइनल में भाग ले रहे थे तो अंत में Heiden लगभग गिर गए लेकिन उन्होंने इस कठिनाई को आसानी से पछाड़ दिया और स्वर्ण अपने नाम किया।

Heiden इतिहास के पहले खिलाड़ी बने जिन्होंने एक शीतकालीन ओलंपिक खेल प्रतियोगिता में पांच स्वर्ण पदक जीते। यह अद्भुत प्रदर्शन दिखाने के बाद Heiden एक साइकिल सवार बन गए और 1986 टूर डे फ्रांस में भी भाग लिया। खेल जीवन के बाद उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से चिकित्सा पढ़ी और अब वह एक ओर्थपेडीक सर्जन हैं।

अपने शब्दों में:

"अगर आपको जीवन में सफल होना है, चाहे वह खेल ही या कुछ और, आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। आपको अंत में यह भी समझ आ जायेगा की जिस चीज़ पर आप सबसे ज़्यादा मेहनत करेंगे, वह आपको अधिकतम पुरस्कार देगी।"- speakers.com

Torvill और Dean का शत प्रतिशत कमाल

छक्का मारना किसे कहते हैं कोई इन दोनों से जाने।

ग्रेट ब्रिटेन की जोड़ी Jayne Torvill और Christopher Dean ने साल 1984 के शीतकालीन खेलों में बर्फ पर जो नृत्य दिखाया वह शायद ही कभी दोबारा देखने को मिलेगा।

रंग बिरंगी पोशाक पहने किये गए इस नृत्य के लिए इन दोनों फिगर स्केटिंग इतिहास में सबसे ज़्यादा अंक प्रदान किये गए जिसमे 12 छह और छह 5.9 शामिल थे और हर जज ने उन्हें कला के लिए छह में से छह अंक दिए।

इससे ज़्यादा शत प्रतिशत शायद ही किसी को इतिहास में मिला हो।

Torvill और Dean ओलंपिक खेलों के बाद प्रो बन गए लेकिन 1994 में एक बार फिर कांस्य पदक जीता।

अपने शब्दों में:

"ऐसे लग रहा था जैसे कोई ज्वालामुखी फट रहा था और हमें उसके शिखर पर जा कर अपने आप को अमरता की ओर ले जाना था।" - Christopher Dean - द गार्डियन

"हमने शुरुआत धमाकेदार की लेकिन अगली और भी विशाल थी। उसके बाद हम बढ़ते ही रहे और मुझे अगली जोड़ी के लिए बुरा लग रहा था।" Jayne Torvill, द गार्डियन

Ester Ledecka ने किया शत प्रतिशत कमल दो अलग खेलों मैं

एक ओलंपिक खेल में दो स्वर्ण जीतना बहुत कमाल की बात होती है लेकिन दो अलग खेलों में स्वर्ण? अद्भुत से कुछ बढ़ कर।

चेक गणराज्य की Ester Ledecka 2018 प्योंगचांग खेलों में स्नोबोर्ड पैरेलल स्लालोम ख़िताब जीतने की सबसे प्रबल दावेदार थी लेकिन उससे पहले उन्होंने अल्पाइन स्कीइंग सुपर-जी में भाग लिया जिसमे वह अंडरडॉग थीं।

दिग्गजों और विश्व स्तर के खिलाड़ियों के विरुद्ध भाग लेते हुए Ledecka ने वह कर दिखाया जो किसी ने सोचा न था। विश्व कप में 19वें स्थान पर आने वाली Ledecka ने उस समय की ओलंपिक चैंपियन Anna Veith को 0.01 सेकंड से परास्त कर स्वर्ण जीत लिया।

उनके अपने चेहरे पर उस दिन जो आश्चर्य का भाव था वह खेल प्रेमी कभी नहीं भूलेंगे।

एक सप्ताह बाद जब उन्होंने स्नोबोर्ड पैरेलल स्लालोम ख़िताब जीता तो वह इतिहास की पहली खिलाड़ी बनी जिन्होंने दो अलग खेलों में एक ही ओलंपिक प्रतियोगिता में स्वर्ण जीते।

अपने शब्दों में:

"मैं सोच रही थी 'शायद समय में बदलाव होगा। मैं थोड़ी प्रतीक्षा कर लेती हूँ और यह लोग कुछ सेकंड और जोड़ देंगे लेकिन कुछ नहीं हो रहा था और सब चीख रहे थे।' मैंने सोचा, 'यह थोड़ा अजीब है।'"

Lizzy Yarnold की शत प्रतिशत स्केलेटन स्वर्ण जीत 

शीतकालीन खेलों में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाड़ियों को स्वर्ण जीतने की आदत नहीं है लेकिन शायद Lizzy Yarnold को कुछ और ही पता था।

सोची 2014 खेलों में स्केलेटन स्वर्ण जीतने के बाद उन्होंने प्योंगचांग में न केवल स्वर्ण जीता बल्कि दो नए ट्रैक रिकॉर्ड भी स्थापित किये।

यह जीत Yarnold के लिए इसलिए भी यादगार थी क्योंकि उनकी तबियत थोड़ी ख़राब थी और उन्होंने 2018 खेलों के बीच में अपना नाम वापस लेने के बारे में सोचना शुरू कर दिया था। 

ग्रेट ब्रिटेन के शीतकालीन ओलंपिक इतिहास की सबसे सफल खिलाड़ी Yarnold स्केलेटन के ओलंपिक इतिहास के शिखर पर अकेले विराजमान हैं।

अपने शब्दों में:

"खेल की दुनिया में क्या होने वाला है यह कोई नहीं कह सकता और मेरा विश्व कप सीजन बहुत अच्छा था लेकिन मुझे बहुत सारी चीज़ें सीखने को मिली हैं। खेल आत्मविश्वास के बारे में है और शीतकालीन खेलों में काफी समय था।"

यह हैं चार खिलाड़ी जो बीजिंग 2022 में शत प्रतिशत हासिल कर सकते हैं

Chloe Kim (यूएसए): हाफपाइप प्रतियोगिता में 17 वर्ष की आयु में प्योंगचांग 2018 स्वर्ण जीतने वाली Kim बीजिंग 2022 में अपना शत प्रतिशत रिकॉर्ड बरक़रार रख सकती है।

Hanyū Yuzuru (जापान): फिगर स्केटर Hanyū Yuzuru के नाम ओलंपिक स्वर्ण हैं जिसमे सोची 2014 और 2018 प्योंगचांग शामिल हैं। अगर वह बीजिंग 2022 खेलों में स्वर्ण जीतते हैं तो तीन लगातार ओलंपिक ख़िताब जीतने वाले 1928 के बात पहले खिलाड़ी बनेंगे।

Mikaela Shiffrin (यूएसए): सोची 2014 में दो स्वर्ण (स्लालोम) और जायंट स्लालोम (प्योंगचांग 2018) में स्वर्ण जीतने के बाद Shiffrin के पास तीन अलग वर्गों में स्वर्ण जीतने का मौका होगा।

Francesco Friedrich (जर्मनी): 13 बार विश्व चैंपियन और छह बार यूरोपियन चैंपियन रह चुके Friedrich ने 2018 प्योंगचांग खेलों में दो स्वर्ण जीते। बीजिंग 2022 में वह अपना बेहतरीन रिकॉर्ड बरक़रार रखने का प्रयास करेंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स
यहां साइन अप करें यहां साइन अप करें