स्प्रिंट स्पर्धा का ओलंपिक इतिहास: जानिए उसैन बोल्ट से लेकर फ्लोरेंस ग्रिफिथ का गोल्डन रिकॉर्ड

ट्रैक एंड फील्ड की दुनिया में कुछ सबसे बड़े नाम है जिन्होंने स्प्रिंट स्पर्धाओं में जैसे 100 मीटर, 200 मीटर, 400 मीटर, रिले और बाधा दौड़ में रिकॉर्ड सूची में अपना नाम दर्ज किया है।

लेखक ओलंपिक चैनल
फोटो क्रेडिट Getty Images

एथलेटिक्स की स्थापना के बाद से इसकी प्रतियोगिताएं हमेशा से ही ओलंपिक के लिए आकर्षण का केंद्र रही हैं।

टोक्यो 2020 में कुल 48 एथलेटिक्स इवेंट (पुरुषों के लिए 24, महिलाओं के लिए 23 और एक मिश्रित) एजेंडे में थे - रियो 2016 से एक अधिक। मिश्रित टीम 4x400 मीटर रिले इवेंट टोक्यो में ओलंपिक एथलेटिक्स कार्यक्रम में पहली बार शामिल हुई थी।

हमेशा की तरह, स्प्रिंट इवेंट - 100 मीटर, 200 मीटर, 400 मीटर, बाधा दौड़ और रिले - हाल ही में समाप्त हुए ग्रीष्मकालीन खेलों के सबसे रोमांचक इवेंट्स में से एक थे।

बीते वर्षों में कई बड़े स्प्रिंटर्स ने इन खेलों में अपनी पहचान बनाई है। हालांकि, उनमें से कुछ स्प्रिंटर्स ही प्रत्येक खेल में प्रतिष्ठित ओलंपिक रिकॉर्ड धारक बन सके हैं, जो बेहतरीन एथलीटों के बीच से भी सर्वश्रेष्ठ के रूप में उभर कर निकले हैं।

यहां टोक्यो 2020 ओलंपिक स्प्रिंट की रिकॉर्ड्स सूची दी गई है।

100 मीटर में ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की 100 मीटर

उसैन बोल्ट (Usain Bolt ) (जमैका) 2012 लंदन ओलंपिक में 9.63 सेकेंड (5 अगस्त 2012)

जमैका के धावक उसैन बोल्ट ने पहली बार 2008 के बीजिंग ओलंपिक में पुरुषों के 100 मीटर ओलंपिक रिकॉर्ड पर कब्जा किया, जिसमें उन्हें 9.69 सेकंड का समय लगा, उन्होंने कनाडा के धावक डोनोवन बेली के 1996 के अटलांटा ओलंपिक में निर्धारित 9.84 के समय को पीछे छोड़ दिया था।

आपको बता दें कि 2012 के लंदन ओलंपिक में, उसैन बोल्ट ने एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड स्थापित करने के लिए अपने ही रिकॉर्ड को 0.06 सेकंड से पीछे छोड़ दिया था।

महिलाओं की 100 मीटर

एलेन थॉम्पसन-हेरा (जमैका) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 10.61 सेकेंड (31 जुलाई, 2021)

जमैका की धाविका एलेन थॉम्पसन-हेरा ने फाइनल में 10.61 सेकंड के समय के साथ टोक्यो 2020 में अपनी महिलाओं के 100 मीटर खिताब को सफलतापूर्वक डिफेंस किया।

वो न सिर्फ रियो की रेस की तुलना में 0.10 सेकंड तेज थीं, बल्कि 1988 के सियोल ओलंपिक के बाद से अमेरिकी स्प्रिंट दिग्गज फ्लोरेंस ग्रिफिथ जॉयनर द्वारा बनाए गए 10.62 सेकंड के लंबे समय तक चलने वाले ओलंपिक रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया।

सियोल में फ्लोजो ने ये रिकॉर्ड क्वार्टर फाइनल में बनाया था। यूएस स्प्रिंटर ने फाइनल में स्वर्ण पदक हासिल करने के लिए अपने समय में सुधार किया और रेस को 10.54 सेकेंड में पूरा किया, लेकिन ये एक रिकॉर्ड के रूप में नहीं गिना गया क्योंकि ये एक विंड-एडेड रन था।

200 मीटर में ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की 200 मीटर

उसैन बोल्ट (Usain Bolt) (जमैका) - 2008 बीजिंग ओलंपिक में 19.30 सेकेंड (20 अगस्त, 2008)

2008 के बीजिंग ओलंपिक फाइनल में उसैन बोल्ट की 19.30 की दौड़ ने महान अमेरिकी धावक माइकल जॉनसन के 1996 के अटलांटा ओलंपिक दौड़ के 19.32 के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ दिया था।

बीजिंग में जमैका का यह धावक 200 मीटर विश्व रिकॉर्ड के रूप में खड़ा था, जब तक कि उन्होंने खुद 2009 बर्लिन में हुए विश्व चैंपियनशिप में 19.19 के डैश के साथ इसे तोड़ नहीं दिया। हालांकि, उनका बीजिंग ओलंपिक का 200 मी रिकॉर्ड अब भी कायम है।

महिलाओं की 200 मीटर

फ्लोरेंस ग्रिफ़िथ जॉयनर ( Florence Griffith Joyner) (यूएसए) - 1988 सियोल ओलंपिक में 21.34 सेकेंड (29 सितंबर, 1988)

सियोल में 100 मीटर ओलंपिक रिकॉर्ड स्थापित करने के ठीक पांच दिन बाद, फ़्लोजो ने दोबारा यह रिकॉर्ड दर्ज किया, लेकिन इस बार यह 200 मीटर में था।

उन्होंने क्वार्टर फाइनल में 21.76 सेकेंड का समय लिया, साथ ही 1984 के ओलंपिक फाइनल में देश की महिला वैलेरी ब्रिस्को-हुक (Valerie Brisco-Hooks) के 21.81 के ओलंपिक रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया।

जॉयनर ने सेमीफाइनल में अपने क्वार्टर फाइनल के समय से 0.20 सेकेंड का नुकसान किया और पूर्वी जर्मन स्प्रिंटर्स हेइक ड्रेक्स्लर (Heike Drechsler) और मारिता कोच (Marita Koch) द्वारा संयुक्त रूप से बनाए गए 21.71 के पिछले विश्व रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

फाइनल में उनकी 21.34 सेकेंड की स्वर्ण पदक जीतने वाली दौड़ आज भी ओलंपिक और विश्व रिकॉर्ड दोनों रूप में शामिल है।

400 मीटर में ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की 400 मीटर

वायडे वैन नीकेर (Wayde van Niekerk) (दक्षिण अफ्रीका) - 2016 रियो ओलंपिक में 43.03 सेकंड (14 अगस्त, 2016)

रियो 2016 से पहले, अमेरिकी धावक माइकल जॉनसन ने पुरुषों के 400 मीटर में ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया, जिसमें (1996 अटलांटा में सेट 43.49 सेकेंड) और उनका विश्व रिकॉर्ड (सेविला में 199 विश्व चैंपियनशिप में 43.18 सेकेंड) शामिल थे।

हालांकि, उनके दोनों रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के एथलीट वेडे वैन नीकेर्क ने बदल दिए, रियो 2016 में पुरुषों के 400 मीटर फाइनल में उन्होंने 43.03 सेकेंड के समय के साथ अविश्वसनीय स्वर्ण पदक हासिल किया।

महिलाओं की 400 मीटर

मैरी-जोस पेरेक (Marie-Jose Perec) (फ्रांस) - 1996 अटलांटा ओलंपिक में 48.25 सेकेंड (29 जुलाई, 1996)

1980 से 1988 तक महिलाओं के 400 मीटर ओलंपिक रिकॉर्ड हमेशा तीनों फाइनल में टूटे थे।

बार्सिलोना 1992 में, हालांकि, फ्रांस की मैरी-जोस पेरेक ने 48.83 के समय के साथ 400 मीटर स्वर्ण जीता, लेकिन 1988 के सियोल ओलंपिक चैंपियन ओल्हा ब्रेज़िना (Olha Bryzhina) के 48.65 के स्थायी रिकॉर्ड को नहीं हरा सकीं।

हांलाकि, 1996 के अटलांटा खेलों में फ्रांसीसी महिला को दूसरी बार इससे दूर नहीं किया गया। मैरी-जोस पेरेक ने ना केवल अपना 400 मीटर का खिताब सफलता पूर्वक बरकरार रखा, बल्कि उन्होंने 48.25 दौड़ के साथ नया रिकॉर्ड भी बनाया। तब से यह रिकॉर्ड मजबूती से कायम है।

बाधा दौड़

110 मीटर बाधा दौड़ में ओलंपिक रिकॉर्ड (केवल पुरुष)

लियू जियांग (Liu Xiang) (चीन) - 2004 एथेंस ओलंपिक में 12.91 सेकंड (27 अगस्त, 2004)

ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में चीन का पहला पुरुष ओलंपिक स्वर्ण पदक कौन सा था, लियू जियांग ने 2004 एथेंस ओलंपिक में 110 मीटर फाइनल में इसे पूरा किया।

जियांग ने सिर्फ इतना ही नहीं किया बल्कि गोल्ड भी अपने नाम किया, उस समय ब्रिटेन के कॉलिन जैक्सन के साथ संयुक्त रूप से विश्व रिकॉर्ड भी कायम किया, तब से इसे हासिल कर पाना मुश्किल है हालांकि ओलंपिक में जियांग के इस समय को कोई भी तोड़ नहीं पाया है।

100 मीटर बाधा दौड़ में ओलंपिक रिकॉर्ड (केवल महिलाएं)

जैस्मीन कैमाचो-क्विन (प्यूर्टो रिको) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 12.26 सेकेंड (1 अगस्त, 2021)

प्यूर्टो रिको की जैस्मीन कैमाचो-क्विन ने टोक्यो 2020 100 मीटर बाधा दौड़ के सेमीफाइनल में सिर्फ 12.26 सेकंड में अपना कोर्स पूरा किया और 2012 के लंदन ओलंपिक फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई सैली पियर्सन के 12.35 सेकेंड के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

टोक्यो 2020 फाइनल में क्विन का 12.37 सेकंड का समय उनके सेमीफाइनल रेस की तरह प्रभावशाली नहीं था, लेकिन उन्हें स्वर्ण पदक दिलाने के लिए पर्याप्त था।

400 मीटर बाधा दौड़ ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की 400 मीटर बाधा दौड़

कार्स्टन वारहोम (नॉर्वे) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 45.94 सेकेंड (3 अगस्त 2021)

टोक्यो 2020 पुरुषों की 400 मीटर बाधा दौड़ के फाइनल में नॉर्वे के कार्स्टन वारहोम ने स्वर्ण पदक जीतने के लिए 45.94 सेकेंड का समय निकाला। ये पूर्व ओलंपिक रिकॉर्ड धारक केविन यंग के 1992 बार्सिलोना में 46.78 सेकेंड के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ने के लिए पर्याप्त था और वारहोम भी अपने 46.70 सेकेंड के विश्व रिकॉर्ड को बेहतर बनाने में सफल रहे।

महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़

सिडनी मैकलॉघलिन (USA) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 51.46 सेकेंड (4 अगस्त, 2021)

USA की सिडनी मैकलॉघलिन ने टोक्यो 2020 में स्वर्ण पदक तो जीता ही साथ ही उन्होंने जमैका की मेलाइन वॉकर के पिछले रिकॉर्ड (बीजिंग 2008 से 52.64 सेकंड) को पीछे छोड़ दिया। मैकलॉघलिन ने अपने विश्व रिकॉर्ड 51.90 को भी बेहतर किया और नया विश्व रिकॉर्ड भी बनाया।

रिले दौड़

4×100 मीटर रिले में ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की रिले दौड़

नेस्टा कार्टर (Nesta Carter) , माइकल फ्रेटर (Michael Frater) , योहान ब्लेक (Yohan Blake) , उसैन बोल्ट (Usain Bolt) (जमैका) - 2012 लंदन के ओलंपिक में 36.84 सेकेंड (9 अगस्त, 2012)

माइकल मार्श (Michael Marsh) , लेरॉय ब्यूरेल (Leroy Burrell) , डेनिस मिशेल (Dennis Mitchell) और कार्ल लुईस (Carl Lewis) की प्रतिष्ठित अमेरिकी टीम ने दो दशकों तक ओलंपिक रिले रेस रिकॉर्ड (1992 बार्सिलोना से 37.40s) को अपने नाम रखा, जिसे जमैका की चौकड़ी ने लंदन 2012 में आसानी से पीछे छोड़ दिया था।

इसमें नेस्टा कार्टर, माइकल फ्रेटर, योहान ब्लेक और उसैन बोल्ट को एक साल पहले के 37.04 के अपने ही विश्व रिकॉर्ड को तोड़ने में भी मदद मिली। यह दोनों रिकॉर्ड अभी भी कायम हैं।

महिला रिले दौड़

टियाना मैडिसन (Tianna Madison), एलिसन फेलिक्स (Allyson Felix), बियांका नाइट (Bianca Knight), कार्मेलिटा जेटर (Carmelita Jeter) (यूएसए) - 2012 लंदन के ओलंपिक में 40.82 सेकेंड (10 अगस्त, 2012)

लंदन 2012 फ़ाइनल से यूएस की रिले टीम ने विश्व रिकॉर्ड 40.82 सेकंड के समय को तत्कालीन ईस्ट जर्मनी के दोनों रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया था।

यह दोनों रिकॉर्ड 1980 के दशक से ईस्ट जर्मन टीमों ने बनाए थे।

4x400 मीटर रिले में ओलंपिक रिकॉर्ड

पुरुषों की 4x400 मीटर रिले

लाशॉन मेरिट (LaShawn Merritt) , एंजेलो टेलर (Angelo Taylor), डेविड नेविल (David Neville) , जेरेमी वारिनर (Jeremy Wariner) (यूएसए) - 2008 बीजिंग ओलंपिक (23 अगस्त, 2008) में 2: 55.39 सेकेंड।

यूएसए के लाशॉन मेरिट, एंजेलो टेलर, डेविड नेविल और जेरेमी वारिनर ने 1992 से एंड्रयू वाल्मन (Andrew Valmon), क्विंसी वाट्स (Quincy Watts), माइकल जॉनसन और स्टीव (Steve Lewis) की अन्य अमेरिकी टीम द्वारा बनाए गए लंबे समय के 4x400 मीटर रिले रिकॉर्ड को पीछे किया था।

मेरिट, टेलर, नेविल और वार्नर ने पिछले रिकॉर्ड को 0.35 सेकेंड से पीछे किया।

महिलाओं की 4x400 मीटर रिले

तात्याना लेडोव्स्काया (Tatyana Ledovskaya), ओल्गा नज़रोवा (Olga Nazarova), मारिया पिनिगिना (Mariya Pinigina), ओल्गा ब्रेज़गिना (Olga Bryzgina) (सोवियत संघ) - 1988 सियोल ओलंपिक में 3:15.17 सेकेंड (1 अक्टूबर, 1988)

तत्कालीन अविभाजित सोवियत संघ की टीम ने सियोल में ओलंपिक और विश्व रिकॉर्ड दोनों बनाए। यह दोनों 4x400 मीटर रिले रिकॉर्ड अभी भी बरकरार हैं।

पिछला ओलंपिक रिकॉर्ड (3:18.29 सेकेंड 1984 लॉस एंजिलेस में) यूएसए के लिली लेदरवुड (Lillie Leatherwood) , डेनियन हॉवर्ड (Denean Howard), वैलेरी ब्रिस्को-हुक (Valerie Brisco-Hooks) और चंद्र चीज़बोरो (Chandra Cheeseborough) के कब्जे में था।

आपतो बता दें कि साल 1984 से पूर्वी जर्मनी के गेसिन वाल्थर (Gesine Walther) , सबाइन बुश (Sabine Busch) , डागमार रुब्सम (Dagmar Rübsam) और मारिता कोच (Marita Koch) के पास पिछला विश्व रिकॉर्ड (3: 15.92 सेकंड) था

क्या इनमें से कोई भी रिकॉर्ड टोक्यो 2020 में टूटेगा?

मिश्रित टीम 4x400 मीटर रिले

करोल ज़ालेव्स्की, नतालिया काज़मारेक, जस्टीना वीटी एर्सेटिक, काजेटन दुज़िंस्की (पोलैंड) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 3: 09.87 (31 जुलाई, 2021)

टोक्यो 2020 में ओलंपिक में मिश्रित टीम 4x400 मीटर रिले ने पदार्पण किया, जहां पोलैंड की करोल ज़ालेव्स्की, नतालिया काज़मेरेक, जस्टीना स्विल्टी-एर्सेटिक और काजेटन दुज़िंस्की ने मिश्रित टीम 4x400 मीटर रिले ओलंपिक रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता और 3: 09.87 में फाइनल रेल जीती।

डोमिनिकन रिपब्लिक की लिडियो एंड्रेस फेलिज, मारिलिडी पॉलिनो, एनाबेल मदीना और अलेक्जेंडर ओगांडो से बनी टीम ने 3:10.21 सेकेंड की समय निकाला और रजत पदक जीता।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स