जानें ओलंपिक में जम्प इवेंट के कुछ रोमांचक किस्से, जहां बॉब बीमन ने अविश्वसनीय ढंग से रचा था इतिहास

बॉब बीमन और येलेना इसिनबायेवा ने फील्ड इवेंट्स में अपने अद्भुत और अविश्वसनीय प्रदर्शन से पूरी दुनिया को मंत्रमुग्ध कर दिया है, जिसमें लॉन्ग जम्प, पोल वॉल्ट, हाई जम्प और ट्रिपल जम्प जैसे इवेंट शामिल हैं।

लेखक ओलंपिक चैनल
फोटो क्रेडिट Getty Images

ओलंपिक जम्प इवेंट – हाई जम्प, लॉन्ग जम्प, ट्रिपल जम्प और पोल वॉल्ट ओलंपिक प्रतियोगिताओं के एथलेटिक्स प्रोग्राम में निरंतर फिक्सचर्स रहे हैं।

ये सभी चार इवेंट किसी ना किसी रूप में प्राचीन ओलंपिक खेलों में मौजूद थे। 1896 में मॉडर्न ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के शुरू होने के साथ ही सभी जम्प इवेंट वैश्विक प्रतियोगिताओं का अभिन्न अंग बने हुए हैं। टोक्यो 2020 में भी चारों को दिखाया गया

आप इस बात का अंदाज़ा बहुत ही आसानी से लगा सकते हैं, कि आखिर क्यों जम्प इवेंट्स को सभी खेलों में एक लुभावने प्रदर्शन के तौर पर देखा जाता है।

जम्प इवेंट्स के शीर्ष एथलीटों के बेहतरीन पलों की बात करें तो लम्बी कूद में कार्ल लेविस या पोल वॉल्ट में येलेना इसिनबायेवा ने अपने-अपने इवेंट में इतिहास रचने का काम किया है। इसके साथ ही उनके अद्भुत और अविश्वसनीय प्रदर्शन की तस्वीरें हमेशा के लिए कैद हो गईं।

हालांकि, जंप इवेंट्स कुछ ज्यादा ही खास हैं। उन्होंने अपनी पूरी जान लगाकर प्रतियोगिताओं में प्रदर्शन किया और बीते कुछ वर्षों में ओलंपिक खेलों में सबसे यादगार प्रतिस्पर्धी पलों का निर्माण किया है।

इनमें से कुछ रिकॉर्ड के रूप में दर्ज हैं।

यहां पर हम आपके लिए हाई जम्प, लॉन्ग जम्प, ट्रिपल जम्प और पोल वॉल्ट के ओलंपिक रिकॉर्ड लेकर आए हैं।

हाई जम्प (ऊंची कूद) ओलंपिक रिकॉर्ड

मेंस हाई जम्प

चार्ल्स ऑस्टिन (यूएसए) - 1996 अटलांटा ओलंपिक में 2.39मी (28 जुलाई, 1996)

1992 में बार्सिलोना में अपने पहले ओलंपिक में हिस्सा लेने जा रहे यूएसए के चार्ल्स ऑस्टिन (Charles Austin) तत्कालीन हाई जम्प विश्व चैंपियन थे और स्वर्ण पदक जीतने के प्रबल दावेदार थे। हालांकि, चोटिल घुटने ने यूएस ट्रैक एंड फील्ड हॉल ऑफ फेमर को निराशाजनक तौर पर आठवें स्थान पर रहने को मजबूर कर दिया।

इसके चार साल बाद ऑस्टिन अटलांटा पहुंचे और यहां पर उनकी नज़र सिर्फ और सिर्फ गोल्ड मेडल पर थी। उन्होंने 2.39 मीटर की हाई जम्प लगाकर ओलंपिक रिकॉर्ड तोड़ते हुए अपनी महत्वाकांक्षा को पूरा किया। उन्होंने सियोल 1988 में सोवियत संघ के हेनाडी एवडीयेंको (Hennadiy Avdyeyenko) द्वारा बनाए गए पिछले रिकॉर्ड (2.38 मीटर) को तोड़ा।

वूमेंस हाई जम्प

येलेना स्लेसरेंको (रूस) - 2004 एथेंस ओलंपिक में 2.06मी (28 अगस्त, 2004)

रूस की येलेना स्लेसरेंको (Yelena Slesarenko) ने 2004 एथेंस ओलंपिक में महिलाओं की ऊंची कूद में स्वर्ण पदक जीतने के लिए 2.06 मीटर की अपनी व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ छलांग दर्ज की। इसके साथ ही उन्होंने इस इवेंट में ओलंपिक रिकॉर्ड दर्ज करते हुए बुल्गेरियाई दिग्गज स्टेफ्का कोस्टाडिनोवा (Stefka Kostadinova) को भी पीछे छोड़ दिया।

1987 के बाद से वूमेंस हाई जम्प वर्ल्ड रिकॉर्ड (2.09 मीटर) धारक स्टेफ्का कोस्टाडिनोवा ने 1996 के अटलांटा खेलों में 2.05 मीटर की छलांग लगाई थी।

लॉन्ग जम्प (लम्बी कूद) ओलंपिक रिकॉर्ड

मेंस लॉन्ग जम्प

बॉब बीमन (यूएसए) - 1968 मेक्सिको सिटी ओलंपिक में 8.90 मीटर (18 अक्टूबर, 1968)

मेक्सिको सिटी में 1968 के ओलंपिक स्वर्ण पदक के सफर में बॉब बीमन (Bob Beamon) की 8.90 मीटर की छलांग सबसे पुराना और स्थायी एथलेटिक्स ओलंपिक रिकॉर्ड है।

वास्तव में, बीमन की इस लम्बी कूद ने एक नए अंग्रेजी शब्द (Beamonesque) को जन्म दिया। इस शब्द का अर्थ है एक उल्लेखनीय या आश्चर्यजनक एथलेटिक उपलब्धि।

1968 के ओलंपिक खेलों में प्रवेश करते हुए ग्रीष्मकालीन खेलों में अपनी पहली उपस्थिति दर्ज करते हुए बॉब बीमन ने उस वर्ष 23 स्पर्धाओं में से 22 में जीत हासिल की थी। वह उस समय पसंदीदा एथलीटों की फेहरिस्त में शुमार थे।

हालांकि, बीमन अपने पहले दो प्रयासों में विफल रहने के बाद क्वालीफाइंग राउंड में दुर्घटनाग्रस्त होने के करीब थे। क्वालीफाइंग राउंड में अपनी तीसरी और करो या मरो की छलांग में उन्होंने वही किया जो दिग्गज जेसी ओवेन्स ने 1936 के ओलंपिक में ठीक ऐसी ही परिस्थितियों में किया था।

बीमन ने फाउल से बचने के लिए टेक-ऑफ लाइन से कुछ इंच पहले ही छलांग लगाई। इसने उनकी थोड़ी दूरी को कम कर दिया, लेकिन इसके बावजूद उनकी छलांग की माप 8.19 मीटर रही। उनकी यह दूरी फाइनल के लिए क्वालीफाई करने के लिए पर्याप्त रही।

इस बीच, बीमन की अमेरिकी टीम के साथी राल्फ बॉस्टन (Ralph Boston) ने क्वालीफाइंग राउंड में 8.27 मीटर की छलांग लगाकर अपने ही ओलंपिक रिकॉर्ड (1960 रोम ओलंपिक में 8.12 मीटर) को बेहतर किया।

हालांकि, फाइनल में उन्हें आश्चर्यजनक प्रदर्शन देखने को मिला। बीमन के अद्भुत और अविश्वसनीय प्रदर्शन के बाद उस वर्ष के कांस्य पदक विजेता और पिछले ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता ग्रेट ब्रिटेन के लिन डेविस ने कहा, “तुमने इस इवेंट को ध्वस्त कर दिया”।

उन्होंने ना केवल ओलंपिक लंबी कूद के रिकॉर्ड को तोड़ा, बल्कि उस समय राल्फ बोस्टन और सोवियत संघ के इगोर टेर-ओवानेसियन द्वारा संयुक्त रूप से बनाए गए 8.35 मीटर के विश्व रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया था।

मीट्रिक प्रणाली से अपरिचित बीमन शुरुआत में यह समझने में विफल रहे कि उन्होंने विश्व रिकॉर्ड को लगभग दो फीट के अंतर से तोड़ दिया है।

दो प्रमुख रिकॉर्ड खोने वाले बोस्टन के बाद उसने अपनी टीम के साथी को भी पीछे छोड़ दिया। बीमन को संयुक्त रूप से एक कैटाप्लेक्सी अटैक झेलना पड़ा। यह एक ऐसी स्थिति है, जहां एक व्यक्ति अत्यधिक भावनात्मक संकेतों के कारण अस्थायी रूप से अपनी मांसपेशियों पर नियंत्रण खो देता है और गिर जाता है।

बीमन की ‘परफेक्ट जम्प’ 23 साल तक विश्व रिकॉर्ड के रूप में दर्ज रहा। इसे 1991 की विश्व चैंपियनशिप में माइक पॉवेल ने तोड़ा। हालांकि ओलंपिक खेलों में इस रिकॉर्ड को अभी तक कोई भी नहीं तोड़ पाया है।

वूमेंस लॉन्ग जम्प

जैकी जॉयनर-केर्सी (यूएसए) - 1988 सियोल ओलंपिक में 7.40 मीटर (29 सितंबर, 1988)

1988 के सियोल ओलंपिक में अब तक की तीन सबसे बड़ी महिला लॉन्ग जंपर्स आमने-सामने थीं।

हालांकि, आज भी सोवियत संघ की गैलिना चिस्त्यकोवा (Galina Chistyakova), यूएसए की जैकी जॉयनर-केर्सी (Jackie Joyner-Kersee) और जर्मनी की हेइक ड्रेक्स्लर (Heike Drechsler) के नाम महिलाओं की लंबी कूद में इतिहास की पांच सर्वश्रेष्ठ छलांग दर्ज हैं। चिस्त्यकोवा के नाम 7.52 मीटर का विश्व रिकॉर्ड है, जॉयनर-केर्सी ने दो बार 7.49 मीटर की छलांग लगाई है, जबकि ड्रेक्स्लर ने दो बार 7.48 मीटर की छलांग लगाई है।

सियोल में तीन दिग्गज एथलीटों के मुकाबले में जैकी जॉयनेर-केर्सी ने 7.40 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग के साथ स्वर्ण पदक जीता, ड्रेक्स्लर ने 7.22 मीटर के साथ रजत और चिस्त्यकोवा ने 7.11 मीटर के साथ कांस्य पदक जीता।

सभी तीन दूरियां पिछले ओलंपिक रिकॉर्ड (सोवियत संघ की तात्याना कोलपाकोवा द्वारा मास्को 1980 में 7.06 मीटर) से बेहतर थीं।

संयोग से जैकी जॉयनर-केर्सी ने हेप्टाथलॉन में ओलंपिक और विश्व रिकॉर्ड (1988 सियोल ओलंपिक में 7291 अंक) भी बनाए।

पोल वॉल्ट ओलंपिक रिकॉर्ड

मेंस पोल वॉल्ट

थियागो ब्राज़ (ब्राज़ील) - 2016 रियो ओलंपिक में 6.03मी (15 अगस्त, 2016)

अपनी घरेलू सरज़मी पर स्वर्ण पदक जीतना हमेशा ही खास होता है और ब्राजील के थियागो ब्रेज़ (Thiago Braz) ने रियो 2016 में अपने पुरुषों के पोल वॉल्ट स्वर्ण पदक को ओलंपिक रिकॉर्ड के साथ और भी खास बना दिया था।

उन्होंने लंदन 2012 में फ्रांस के रेनॉड लैविलेनी (Renaud Lavillenie) के 5.97 मीटर सेट के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया। संयोग से पुरुषों के पोल वॉल्ट विश्व रिकॉर्ड धारक लैविलेनी ने 5.98 मीटर ऊंची छलांग लगाकर ब्रेज़ के पीछे रहते हुए रजत पदक जीता।

वर्तमान में मेंस पोल वॉल्ट के विश्व रिकॉर्ड धारक स्वीडन के आर्मंड डुप्लांटिस, टोक्यो 2020 में ब्रेज़ के ओलंपिक रिकॉर्ड की बराबरी करने से सिर्फ 0.01 मीटर पीछे रह गए। डुप्लांटिस ने 6.02 मीटर की छलांग के साथ टोक्यो में गोल्ड जीता।

वूमेंस पोल वॉल्ट

येलेना इसिनबायेवा (रूस) - 2008 बीजिंग ओलंपिक में 5.05 मीटर (18 अगस्त, 2008)

अब तक की सबसे महान महिला पोल वाल्टर, रूस की येलेना इसिनबायेवा (Yelena Isinbayeva) ने 2004 एथेंस ओलंपिक खेलों में 4.91 मीटर कूद के साथ अपना पहला ओलंपिक स्वर्ण जीता था। उस समय ओलंपिक और विश्व रिकॉर्ड दोनों ही उनके नाम दर्ज थे।

उन्होंने दोनों रिकॉर्ड में सुधार करते हुए बीजिंग 2008 में 5.05 मीटर ऊंची छलांग लगाई। इसिनबायेवा ने स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख में 2009 IAAF गोल्डन लीग में अपने ही विश्व रिकॉर्ड को 5.06 मीटर की छलांग लगाकर उसे बेहतर किया, लेकिन बीजिंग का उनका ओलंपिक रिकॉर्ड अभी भी कायम है।

ट्रिपल जम्प ओलंपिक रिकॉर्ड

मेंस ट्रिपल जंप

केनी हैरिसन (यूएसए) - 1996 अटलांटा ओलंपिक में 18.09 मी (27 जुलाई, 1996)

1996 के अटलांटा ओलंपिक में प्रवेश करते हुए यूएसए के माइक कॉनली सीनियर (Mike Conley Sr.) ने मेंस ट्रिपल जंप ओलंपिक रिकॉर्ड (बार्सिलोना 1992 में 17.63 मीटर) को अपने नाम कर रखा है।

एक अन्य अमेरिकी एथलीट केनी हैरिसन (Kenny Harrison) ने फाइनल के पहले दौर में 17.99 मीटर की छलांग के बाद अटलांटा में इस रिकॉर्ड को तोड़ा था। हालांकि, अपनी चौथी छलांग में हैरिसन ने रिकॉर्ड को बढ़ाते हुए अपनी ट्रिपल जम्प में 0.10 मीटर की दूरी को और जोड़ा।

वूमेंस ट्रिपल जंप

युलिमार रोजस रोड्रिगेज (वेनेजुएला) - 2020 टोक्यो ओलंपिक में 15.67 मीटर (1 अगस्त, 2021)

टोक्यो 2020 में वूमेंस ट्रिपल जंप में वेनेजुएला की ट्रिपल जंपर युलिमार रोजास रोड्रिगेज ने गोल्ड हासिल किया, साथ ही फाइनल में अपनी अंतिम कोशिश में उन्होने 15.67 मीटर की छलांग लगाकर ओलंपिक रिकॉर्ड भी बनाया।

इस इवेंट में पिछला ओलंपिक रिकॉर्ड 15.39 मीटर का था, जो कि कैमरून के फ्रेंकोइस म्बंगो ईटोन (Francoise Mbango Etone) के नाम था। जिसे बीजिंग 2008 में दो बार की ओलंपिक महिला ट्रिपल जंप चैंपियन ने बनाया था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स