अपनी भाषा को सेलेक्ट करें
Loading...
Loading...
Sakshi

साक्षी मलिक

भारत
टीमभारत
WrestlingWrestling
भाग लेना1
पहला प्रतिभागीरियो 2016
जन्म का साल1992
सोशल मीडिया

बायोग्राफी

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक प्रतिभा की धनी हैं। रियो 2016 ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनने के अलावा, उन्होंने धारणाओं को बदल दिया और महिला पहलवानों की आने वाली पीढ़ियों की आदर्श बन गईं।

ओलंपिक में जीता गया कांस्य पदक, उनकी अनगिनत उपलब्धियो में से एक है। जिसने कुश्ती में उनके प्रभावशाली करियर को परिभाषित किया।

साक्षी मलिक का जन्म 3 सितंबर 1992 को हरियाणा के रोहतक जिले के मोखरा गाँव में हुआ था।

अपने दादा सुबीर मलिक जो ख़ुद भी एक पहलवान थे, उन्हें देखने के बाद और उनसे प्रेरित होकर साक्षी मलिक ने रेसलिंग में आने का इरादा किया।

केवल 12 साल की उम्र में, उन्होंने ईश्वर दहिया के अंदर प्रशिक्षण शुरू किया और पांच साल बाद, उन्होंने 2009 के एशियाई जूनियर विश्व चैंपियनशिप के फ़्रीस्टाइल में 59 किग्रा भारवर्ग में रजत पदक जीतते हुए सफलता का पहला स्वाद चखा। इसके बाद 2010 विश्व जूनियर चैंपियनशिप में भी कांस्य पदक जीता।

2013 के कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में कांस्य जीतने के बाद, साक्षी मलिक ने ग्लासगो में अगले वर्ष अपना पहला कॉमनवेल्थ गेम्स खेला और 58 किलोग्राम के फाइनल में नाइजीरिया की अमीनत अदेनियी के खिलाफ हार झेलते हुए रजत पदक से संतोष किया। इसके बाद उन्होंने 2018 में 62 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक के साथ अपना दूसरा और अंतिम राष्ट्रमंडल खेल पदक जीता।

As a woman, power signifies faith. Faith to believe in your dreams and your abilities.”

फीचर्ड

ताज़ा खबरें

Latest news

साक्षी मलिक
रिप्ले

साक्षी मलिक
रिप्ले

ओलंपिक रिजल्ट

Athlete Olympic Results Content

You May Like